ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट में किसने लगाई आग! लाखों का नुकसान          BIG NEWS : इंडिया और इज़राइल मिलकर खोजेंगे कोविड-19 का इलाज         CBSE : अपने स्कूल में ही परीक्षा देंगे छात्र, अब देशभर में 15000 केंद्रों पर होगी परीक्षा         BIG NEWS : कुलगाम एनकाउंटर में कमांडर आदिल वानी समेत दो आतंकी ढेर         BIG NEWS : लद्दाख बॉर्डर पर भारत ने तंबू गाड़ा, चीन से भिड़ने को तैयार         ममता बनर्जी को इतना गुस्सा क्यों आता है, कहा आप "मेरा सिर काट लीजिए"         GOOD NEWS ! रांची से घरेलू उड़ानें आज से हुईं शुरू, हवाई यात्रा करने से पहले जान लें नए नियम         .... उनके जड़ों की दुनिया अब भी वही हैं         आतंकियों को बचाने के लिए सुरक्षाबलों पर पत्थरबाज़ी, जवाबी कार्रवाई में कई घायल         BIG NEWS : पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर तौफीक उमर को कोरोना, अब पाकिस्तान में 54 हजार के पार         महाराष्ट्र में खुल सकते है 15 जून से स्कूल , शिक्षा मंत्री ने दिए संकेत         BIG NEWS : सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के टॉप आतंकी सहयोगी वसीम गनी समेत 4 आतंकी को किया गिरफ्तार         आतंकी साजिश नाकाम : सुरक्षाबलों ने पुलवामा में आईईडी बम बरामद         BREAKING: नहीं रहे कांग्रेस के विधायक राजेंद्र सिंह         पानी रे पानी : मंत्री जी, ये आप की राजधानी रांची है..।         BIG NEWS : कल दो महीने बाद नौ फ्लाइट आएंगी रांची, एयरपोर्ट पर हर यात्री का होगा टेस्ट         BIG NEWS : भाजपा के ताइवान प्रेम से चिढ़ा ड्रैगन, चीन ने दर्ज कराई आपत्ति         सिर्फ विरोध से विकास का रास्ता नहीं बनता....         सीमा पर चीन ने बढ़ाई सैन्य ताकत, मशीनें सहित 100 टेंट लगाए, भारतीय सेना ने भी सैनिक बढ़ाए         BIG NEWS : केजरीवाल सरकार ने सिक्किम को बताया अलग राष्ट्र         महिला पर महिलाओं द्वारा हिंसा.... कश्मकश में प्रशासन !         BIG NEWS : वैष्णों देवी धाम में रोज़ाना 500 मुस्लिमों की सहरी-इफ्तारी की व्यवस्था         विस्तारवादी चीन हांगकांग पर फिर से शिकंजा कसने की तैयारी में, विरोध-प्रर्दशन शुरू         BIG NEWS : स्पेशल ट्रेन की चेन पुलिंग कर 17 मजदूर रास्ते में ही उतरे         भक्ति का मोदी काल ---         अम्फान कहर के कई चेहरे, एरियल व्यू देख पीएम मोदी..!         महिला को अर्द्धनग्न कर घुमाया गया !         टिड्डा सारी हरियाली चट कर जाएगा...         'बनिया सामाजिक तस्कर, उस पर वरदहस्त ब्राह्मणों का'         इतिहास जो हमें पढ़ाया नहीं गया...         झारखंड : शुक्रवार को 15 कोरोना         BIG NEWS : जिन्ना गार्डन इलाके में गिरा प्लेन, कई घरों में लगी आग, जीवन बचाने के लिए भागे लोग         BIG NEWS : पाकिस्तान की फ्लाइट क्रैश, विमान में सवार सभी 107 लोगों की मौत         BIG NEWS : मधु कोड़ा के केवल चुनाव लड़ने के लिए दोषी होने पर रोक लगाना ठीक नहीं : दिल्ली हाई कोर्ट         BIG NEWS : तीन और महीने के लिए टली ईएमआई, 31 अगस्त तक बढ़ाया         BIG NEWS : आज से आरक्षित टिकटों की बुकिंग रेलवे काउंटर से शुरू         चीन के बाद अब पाक ने बढ़ाई सीमा पर ताकत, तोपें और अतिरिक्त सैन्य डिवीजन तैनात          BIG STORY : झारखंड के लिए शिक्षा माने भीक्षा....         BIG NEWS : पाकिस्तान ने सरकारी मैप में सुधारी गलती ! गिलगित-बल्तिस्तान और मीरपुर-मुजफ्फराबाद भारत का हिस्सा         BIG NEWS : अम्फान तूफान, तबाही के निशान        

मिल जाए तो मिट्टी है , खो जाए तो सोना है

Bhola Tiwari Jul 02, 2019, 5:05 AM IST टॉप न्यूज़
img

एस डी ओझा

" प्रेमचंद घर में " की लेखिका शिवरानी देवी हैं । शिवरानी देवी प्रेमचंद की पत्नी थीं । उन्होंने वही लिखा जो प्रेमचंद के साथ जिया था । हालाँकि प्रेमचंद के बेटे अमृत राय ने भी प्रेमचंद की जीवनी लिखी थी , पर वह सुनी सुनाई बातें थीं । शिवरानी देवी की पहली कहानी "साहस " उस दौर की प्रतिष्ठित पत्रिका चांद में छपी तो लोगों ने यही समझा कि प्रेमचंद ने यह कहानी लिखी है और बीवी के नाम से छपाई है । जब उनकी और कहानियाँ छपीं तो भी कुछ लोगों को यकीन था कि ये कहानियाँ प्रेमचंद ने हीं लिखी है । जब शिवरानी देवी ने "प्रेमचंद घर में " लिखा तो सभी को विश्वास हो गया कि शिवरानी देवी हीं वह लेखिका हैं , जिन्होंने ये सारी रचनाएँ रची हैं ।

"प्रेमचंद घर में " लिखते समय शिवरानी देवी ने घूंघट नहीं ओढ़ा है । उन्होंने बहुत हीं बेबाकी से प्रेमचंद के बारे में लिखा है । ऐसा प्रेमचंद खुद नहीं लिख सकते थे । कौन अपना जनाजा खुद निकालना चाहेगा । शिवरानी देवी ने इसमें प्रेमचंद की एक उप पत्नी का भी जिक्र किया है । उस उपपत्नी के चलते पति पत्नी में आए दिन घर में घमासान होता था । अपने अंतिम दिनों में प्रेमचंद ने शिवरानी देवी से अपने इस कृत्य के लिए बार बार माफी मांगी थी । जाहिर सी बात है कि यदि प्रेमचंद लिखते तो यह बात जरुर छिपाते । शिवरानी देवी ने यह भी लिखा है कि छुटभैयै साहित्यकार प्रेमचंद को दिन में लिखने नहीं देते थे । पूरा दिन प्रेमचंद उनकी आवभगत में गुजार देते थे । वे केवल रात को हीं लिख पाते थे ।

 रतजगा करने के कारण प्रेमचंद का स्वास्थ्य खराब हो गया । उन्हें बार बार खून की उल्टी होती । फिर भी वे नहीं मानते । उस समय वे " मंगल सूत्र " लिख रहे थे । ये सब बातें शिवरानी देवी ने अपनी कृति "प्रेमचंद घर में " लिखीं थीं । यह पुस्तक 1944 में प्रकाशित हुई थी । बाद में उनके नाती प्रबोध कुमार ने इसे 2005 में संशोधित किया । शिवरानी देवी ने यह भी लिखा था कि जब भी प्रेमचंद किसी साहित्य सम्मेलन में जाते तो वे उन्हें भी आग्रहपूर्वक अपने साथ ले जाते थे । शिवरानी देवी ने लिखा है कि प्रेमचंद अच्छी या बुरी दोनों तरह की आलोचना बड़े चाव से पढ़ते थे । जबकि शिवरानी को प्रेमचंद की अच्छी आलोचना सुकून देती थी और बुरी आलोचना दुःखी कर जाती थी । शिवरानी देवी ने स्वाधीनता संग्राम में भी अग्रणी भूमिका निभाई थी । उन्हें 1930 में दो माह की सजा हुई थी ।

शिवरानी देवी ने लिखा है कि किसी चीज की कद्र तब होती है , जब वह पास नहीं रहती । उनको भी पति की महानता का पता उनके मरने के बाद हीं चली थी ।

दुनियां जिसे कहते हैं , जादू का खिलौना है ।

मिल जाए तो मिट्टी है खो जाए तो सोना है ।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links