ब्रेकिंग न्यूज़
कब होगी जनादेश से जड़ों की तलाश          'नसबंदी का टारगेट', विवाद के बाद कमलनाथ सरकार ने वापस लिया सर्कुलर         पीढ़ियॉं तो पूछेंगी ही कि गाजी का अर्थ क्या होता है?         मातृ सदन की गंगा !         ओवैसी की सभा में महिला ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए         एक बार फिर चर्चा में हैं सामाजिक कार्यकर्ता "तीस्ता सीतलवाड़",शाहीनबाग में उन्हें औरतों को सिखाते हुए देखा गया         कनपुरिया गंगा, कनपुरिया गुटखा, डबल हाथरस का मिष्ठान और हरजाई माशूका सी साबरमती एक्सप्रेस..         शाहीन बाग में वार्ता विफल : जिस दिन नागरिकता कानून हटाने का एलान होगा, हम उस दिन रास्ता खाली कर देंगे         फ्रांस में विदेशी इमामों और मुस्लिम टीचर्स पर प्रतिबंध         'राष्ट्रवाद' शब्द में हिटलर की झलक, भारत कर सकता है दुनिया की अगुवाई : मोहन भागवत         आतंकवाद के खिलाफ चीन ने पाकिस्तान का साथ छोड़ा         दिमाग में गोबर, देह पर गेरुआ!          त्राल में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया         CAA-NRC-NPR के समर्थन में रिटायर्ड जज और ब्यूरोक्रेट्स ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र         अनब्याही माँ : चपला के बहाने इतिहास को देखा          भारतीय पत्रकारिता को फफूंदी बनाने वाली पत्रकार यूनियनें..         ब्रिटेन और फ्रांस को पीछे छोड़ भारत बना दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था         ..विधायक बंधू तिर्की और प्रदीप यादव आज विधिवत कांग्रेस के हुए         मरता क्या नहीं करता !          14 साल बाद बाबूलाल मरांडी की घर वापसी, जोरदार स्वागत         जेवीएम प्रमुख बाबूलाल मरांडी भाजपा में हुए शामिल, अमित शाह ने माला पहनाकर स्वागत किया         भारत में महिला...भारत की जेलों में महिला....          अनब्याही माताएं : प्राण उसके साथ हर पल है,यादों में, ख्वाबों में         कराची में हिंदू लड़की को इंसाफ दिलाने के लिए सड़कों पर उतरे लोग         बेतला राष्ट्रीय उद्यान में गर्भवती मादा बाघ की मौत !अफसरों में हड़कंप         बिहार की राजनीति में हलचल : शरद यादव की सक्रियता से लालू बेचैन          सीएम गहलोत की इच्छा, प्रियंका की हो राज्यसभा में एंट्री !         अनब्याही माताएं : गीता बिहार नहीं जायेगी          तेंतीस करोड़ देवी-देवताओं के देश में यही होना है...         केजरीवाल माँडल अपनाकर हीं सफलता प्राप्त कर सकतीं हैं ममता बनर्जी         28 फरवरी को रांची आएंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद         सत्ता पर दबदबा रखनेवाले जूना पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर से लेकर तमाम शंकराचार्यों की जमात कहां हैं?          यही प्रथा विदेशों में भी....        

कैराना के बाद अब मेरठ में हिंदुओं का पलायन

Bhola Tiwari Jun 29, 2019, 7:43 AM IST टॉप न्यूज़
img

 सिद्धार्थ सौरभ 

मेरठ : मेरठ के प्रह्लाद नगर में मनचलों और दहशतगर्दी की गर्दिश में कई परिवार त्रस्त है। दुखित है। पीड़ित है। प्रताड़ित हैं। घूमना है मुश्किल। चलना है मुश्किल। घर से बाहर निकलना है मुश्किल। हर तरफ मनचलों और दहशत का पहरा। प्रहलाद नगर में 70 गलियों का मकड़जाल है। इन गलियों में आवारा लोगों की आवारगी चरम पर है। बाईकर्स की टोली चलती है। कभी मां बहनों के पल्लू उतार लेते है। कभी छोड़ देते हैं। कभी गंदी हरकत करते हैं। कभी चुन्नी उतार कर भाग जाते हैं तो कभी मन हुआ तो फायरिंग भी कर देते हैं।

इलाकें में शरारती तत्वों का दिनभर जमावड़ा लगा रहता है। बाइक स्टंट और लड़कियों से छेड़छाड़ और फ़फ्तियाँ कसी जातीं हैं। मोबाइल, पर्स और चेन स्नेचिंग, चोरी की वारदात हर दिन होती है। कोचिंग जातीं छात्राओं का कुछ युवक पीछा करते हैं और भद्दी-भद्दी टिप्पणियां करते हैं। 

होता क्या है साहब। केवल और केवल परेशानी। कोई नहीं सुनता। पुलिस भी नहीं सुनती। कहीं न कहीं पुलिस उन बिरादरी के साथ ही खड़ी नजर आती है। मोहल्ले के अशोक कथूरिया बहुत पहले पुलिस को आवेदन दे चुके हैं। कार्रवाई नहीं हुआ तो अपना ही माथा खुजलाते हैं। हालात इतने बिगड़ चुके हैं की सैकड़ों लोग यहां से पलायन कर चुके हैं। हर घर के दरवाजे पर आप टंगा पाएंगे कि यह मकान बिकाऊ है। कोई खरीदार है तो खरीद लो। और साहब सरकार किसकी है। माननीय योगी जी की।

मेरठ में पलायन का मुद्दा जैसे ही मीडिया में आया, दिल्ली से लेकर लखनऊ में हडकंप मच गया। अफसरों से जवाब-तलब हुआ तो सभी घटनास्थल की ओर दौड़े। एडीजी प्रशांत कुमार और कमिश्नर अनीता सी मेश्रम ने कालोनी में पहुंचकर पूरी लिस्ट तैयार की। देखा गया कि आजादी से अब तक कितने परिवार रहते थे। मौजूदा हाल में कितने परिवार हैं। हाल के दिनों में कितने परिवार यहां से मकान बेचकर चले गए। एडीजी पलायन शब्द से कतराते रहे लेकिन स्वीकारा कि बड़ी संख्या में हिन्दू परिवार यहाँ से घर बेंचकर चले गए।

 रोने लगे कई पीड़ित परिवार

गुरुवार को पलायन के मामले ने तूल पकड़ा तो थाने के इंस्पेक्टर से लेकर सीओ, सिटी मजिस्ट्रेट, एसपी क्राइम, एडीएम सिटी, डीएम, एसएसपी, कमिश्नर, आइजी और एडीजी खुद मौके पर पहुंच गए। इस दौरान कई हिन्दू परिवारों का दर्द छलक कर सामने आ गया और फूट-फूटकर रोने लगे। पीड़ित परिवार ने बताया कि अभी तक इस इलाके के लोग रोजाना बाइकर्स के स्टंट, बेटियों से छेड़छाड़ और मुस्लिम समुदाय के लोगों की टिप्पणी से परेशान थे। ऐसा नहीं कि उन्होंने पुलिस और प्रशासनिक अफसरों को मामले की शिकायत नहीं की, बल्कि उनकी शिकायत को अनदेखा कर दिया जाता था। मजबूर होकर उन्हें अपना मकान कम दाम में बेचकर दूसरी कालोनियों में शिफ्ट होना पड़ा। लोगों के मुताबिक़ कि पहले तो स्टंट दिखाकर जीना मुहाल कर देते हैं। इतना डर दिखाते हैं कि रात में अपने मकान में आना भी दूभर हो जाता है। उसके बाद मकान की मोटी रकम लगाकर बेचने को मजबूर कर देते हैं। इसी तरह से काफी लोग अपने मकान बेचकर दूसरे स्थानों पर जाकर रहने लगे हैं।

 हम सुरक्षित नहीं 

लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के प्रहलाद नगर और इस्लामाबाद को जोड़ने वाले लुहार पुरा बोर्डर पर गुरुवार को एडीजी, कमिश्नर, आइजी, डीएम, एसएसपी संग आला अफसर मौजूद थे। पुलिस की पूछताछ में पीड़ित जितेन्द्र पाहवा ने कहा कि साहब, हम किसी भी तरह सुरक्षित नहीं हैं। प्रहलाद नगर सिकुड़ रहा है। इसे उजड़ने से बचाओ। जिसे सुनकर अफसर भी सन्न रह गए। इस दौरान वहां मौजूद और भी लोगों ने पीड़ित की बात का समर्थन किया। भाजपा पार्षद जितेंद्र पाहवा ने आला अफसरों से रोते हुए कहा कि शरारती तत्व उत्पात मचाते हैं, ऐसे में उनसे दुश्मनी मोल लेनी पड़ती है। हम बहुत दुखी हैं। कहो तो हम यहां से चले जाते हैं।

पुलिस मुद्दे को भटका रही

विश्व हिदू महासंघ की जिला इकाई के पदाधिकारियों का कहना है कि प्रहलाद नगर में शरारती तत्वों की अराजकता से परेशान होकर पलायन करने को मजबूर परिवारों का दर्द पुलिस-प्रशासन सुनने को तैयार नहीं है। दहशत की वजह से एक के बाद एक मकान बिक रहा है, यह पलायन नहीं तो क्या है। पलायन को प्रशासनिक अफसर भी समझ रहे हैं, मगर अपनी गर्दन फंसती देख मुद्दे से लोगों को भटका रहे हैं।

पलायन नहीं दूसरा मामला है-एडीजी 

एडीजी जोन प्रशांत कुमार ने बताया कि प्रह्लाद नगर में पलायन नहीं गेट लगाने का मामला है। स्थानीय लोगों की समस्याओं का निस्तारण किया जाएगा। एक समुदाय ने प्रह्लाद नगर में स्टंटबाजी, छेड़खानी, फायरिंग और ट्रैफिक की समस्या होने की शिकायत की है। फिलहाल पुलिस पिकेट लगा दी। प्रह्लाद नगर में सुरक्षा की दृष्टि से गेट भी लगाने की बात सामने आई।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links