ब्रेकिंग न्यूज़
BIG STORY : नदियां गायब हो रहीं या मनुष्यता का डिहाड्रेशन हो रहा...                           BIG NEWS : चीन के प्रति अमेरिका के तेवर सख्त, चीन से आने वाली उडा़नों पर लगाई रोक         BIG NEWS : जैश-ए-मोहम्मद का आईईडी विशेषज्ञ अब्दुल रहमान मारा गया         BIG NEWS : अंकित शर्मा मर्डर केस: ताहिर हुसैन ने रची थी पूरी साजिश, चार्जशीट में पुलिस का दावा         चीनी घुसपैठ: तरीका और पृष्ठभूमि से समझिए मंशा          महबूबा मुफ्ती को राहत नहीं, सरकार ने शाह फैसल समेत 3 नेताओं पर से हटाया PSA          BIG NEWS : मसूद अजहर के रिश्तेदार समेत तीन आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर         जार्ज फ्लाँयड मर्डर         ....खलनायक को पाप से मुक्ति मिले         रामकृपाल कंट्रशन के कार्यालय में एनआईए की छापेमारी         यहाँ से फूटती है उम्मीद की किरण..।         BIG NEWS : पाकिस्तान में 3 और नाबालिग हिंदू लड़कियां अगवा, मौलवियों ने जबरन धर्म परिवर्तन कराकर कराई शादी         ..जब प्रेसिडेंट ट्रंप को बंकर में छिपना पड़ा         त्राल एनकाउंटर में 1 आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी          इतिहासकार विजया रामास्वामी का निधन          BIG NEWS  : वैष्णो देवी कटड़ा में 50 घोड़ों और 50 चालकों का कोरोना टेस्ट         झारखंड में कुचल दी गई राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी की संभावनाएं.. अब सब्जी बेचने को हो गई विवश..         शांति-कपोत आत्महत्या कर लेते हैं !          52 years back : गोरे लोग इसके जिम्मेदार हैं तो यह गोरा आपके बीच खड़ा है...         कोरोना काल में हमारे बच्चे !         BIG NEWS : ISI के लिए काम करते थे पाकिस्तानी जासूस, भारत ने देश से बाहर निकाला         BIG NEWS : झारखंड में खुलेगी सभी दुकानें और चलेंगे ऑटो रिक्शा         पाकिस्तान को सिखाया सबक, कई चौकियां तबाह, छह सैनिक घायल         भारतीय सेना ने घुसपैठ कर रहे 3 आतंकियों को मार गिराया, सर्च ऑपरेशन जारी         नेतागिरी चमकाने के लिए बेशर्म होना जरूरी....         BIG NEWS : सिंह मैंशन व रघुकुल समर्थकों में भिड़ंत, लाठी-डंडे व तलवार से हमला, दो की हालत गंभीर          ग्रामीणों और बच्चों को ढाल बनाकर नक्सलियों ने पुलिस पर किया हमला, 2 जवान शहीद         BIG NEWS : जासूसी करते हुए पकड़े गए पाक हाई कमीशन के दो अधिकारी, दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया         POK के सभी टेरर कैंपों में भरे पड़े हैं आतंकवादी : लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू         BIG NEWS : बख्तरबंद वाहन में घुसे चीनी सैनिकों को भारतीय सेना ने घेर कर मारा         BIG NEWS : अब 30 जून तक बंद रहेंगे झारखंड के स्कूल ं        

"क्या मैं कोई कोठेवाली लगती हूँ आपको?"

Bhola Tiwari Jun 27, 2019, 7:17 AM IST टॉप न्यूज़
img

प्रवीण झा

(जाने माने चिकित्सक नार्वे)

किशोरी जी के गायन के बीच एक फलाँ ऑफिसर की पत्नी ने पान मँगवाने के लिए आवाज दी, तो वो भड़क गई। ऐसे कई किस्से हैं। 

जब मैं पुणे में पढ़ता था, तो पंडित जोशी जी को निमंत्रण देना आसान था। उनका गुस्सा झेल जाते। उल्हास कशलकर जी भी 'स्पिक मेकै' के लिए गायन करते। पर किशोरी ताई के पास जाने की हिम्मत न होती। उनकी कई शर्तें थी कि ऐसा माहौल, ऐसी तैयारी, ऐसी गाड़ी, ऐसी ऑडिएन्स। एक अलग ही रूतबा था। एक महिला गायिका के लिए यह रूतबा बड़ी चीज है। लोग कहते हैं, वो केसरबाई केरकर से मिलती-जुलती थी मिज़ाज़ के हिसाब से। मैं कहता हूँ कि वो केसरबाई, विलायत खान साहब और कुमार गंधर्व, तीनों मिलाकर एक थी।

केसरबाई केरकर भी जयपुर-अतरौली घराने से थी, जहाँ से किशोरी जी की माँ थी, तो यह समानता तो आनी ही थी। उन दिनों महिला गायिकाओं का पायदान नीचे होता, पर किशोरी जी ने कभी अपना कद नीचे नहीं होने दिया। वो घर में घंटों रियाज कर लेंगीं, पर उस प्रोग्राम में नहीं गाएँगी जहाँ उनकी इज्जत न हो।

इस मामले में वो कुछ-कुछ विलायत खान साहब के स्वभाव की थी। उन्होनें आकाशवाणी में गाना छोड़ दिया था जब 'क्लास-सिस्टम' आया। उनकी अपनी निर्धारित फीस थी। जो उनको ऐफॉर्ड कर सकें, बुलाएँ। नहीं तो वो घर पर रियाज करेंगें। किशोरी जी की भी यही शर्त थी। हिंदुस्तानी संगीत है, कोई ऑरकेस्ट्रा पार्टी नहीं, कि मोल-भाव करो। जैसे विलायत खान साहब अवार्ड लेने से इंकार करते, वैसे ही किशोरी जी ने भारत-रत्न न मिलने पर कहा था, "जिस कैटगरी के अवार्ड में सचिन तेंदुलकर हों, उस कैटगरी से मुझे बाहर ही रखिए।" 


ऐसा ही कुछ-कुछ कुमार गंधर्व वाली बात। वो भी कुमार गंधर्व जी की तरह घरानों में विश्वास नहीं करतीं। किशोरी जी किसी एक घराने की थी ही नहीं। उनकी माँ जयपुर घराना, एक गुरू भिंडीबाजार घराना, एक गुरू आगरा घराना। वो कहतीं कि घराने संगीत को बाँध देते हैं। यह भी इत्तेफाक ही है कि कुमार गंधर्व जी और किशोरी जी, दोनों की आवाज अचानक से २५ वर्ष की उमर में कुछ वर्ष के लिए चली गई। कुमार गंधर्व जी को टी.बी. हो गया, और किशोरी जी की अपने-आप चली गई। जैसे भगवान परख रहे हों। और जब वापस आई, तो दोनों की आवाज ने मिसाल कायम कर दी। यह चमत्कार ही तो है। 


मैनें भले ही उन्हें इन तीन हस्तियों से जोड़ा हो, पर गायन के तौर पर मुझे उनमें उस्ताद अमीर खान की छवि दिखती है। दोनों के सुनने के लिए श्रोता में भी धैर्य चाहिए। इनका आलाप लंबा होता है। यह बंदिश पर नहीं, सुर पर ध्यान देते हैं। इन्हें एक सुर मिल जाता है, उसी को पकड़ कर घंटों गा सकते हैं। पर ध्यान रखें, इन्हें सुर मिल जाता है। सबको सुर नहीं मिल पाता, ढूँढते रह जाते हैं। किशोरी जी तो चली गई। अब ढूँढते रहिए सुर

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links