ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : पाकिस्तान में अलग सिंधुदेश बनाने की मांग तेज, पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर लेकर सड़क पर उतरे प्रर्दशनकारी         BIG NEWS : औरंगाबाद शहर का नाम बदलने को लेकर शिवसेना और कांग्रेस आमने-सामने         BIG NEWS : किसान आंदोलन, सुप्रीम कोर्ट में आज की सुनवाई पर नजर         BIG NEWS : पीएम मोदी ने देश के विभिन्‍न हिस्‍सों से केवड़िया को जोड़ने वाली 8 ट्रेनों को दिखाई हरी झंडी         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में भटके युवाओं को वापसी का मौका दे रही है सेना, बीते 6 माह में 17 आतंकियों ने किया सरेंडर - लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू         BIG NEWS : सोपोर में फर्जी लश्कर-ए-तैयबा मॉड्यूल का भंडाफोड़, इमाम समेत तीन गिरफ्तार         BIG NEWS : त्राल में आतंकियों के 5 मददगार गिरफ्तार, चिपकाए थे धमकी भरे पोस्टर         BIG NEWS : भर आई पीएम मोदी की आंखें, सैकड़ों साथी घर लौटकर नहीं आए, आज कोरोना से निपटने में देश सक्षम         हार्वर्ड ने बुलाया नहीं और एनडीटीवी ने पट नहीं खोला ...         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण की हुई शुरुआत, 100 स्वास्थ्य कर्मियों को लगी वैक्सीन         BIG NEWS : घाटी में आतंक के खिलाफ कार्रवाई जारी, कुपवाड़ा में एक सक्रिय आतंकी ठिकाना ध्वस्त, हथियार बरामद         नया भारत आर्य-अनार्य की संघर्ष भूमि न बने ...         भाजपा और ओवैसी दोनो के चारों हाथों में लड्डू..         BIG NEWS : बवाल के बाद होश में आया व्हाट्सएप, प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट को किया स्थगित         BIG NEWS : देशभर में आज से लगेगा कोरोना का टीका         किसान आंदोलन और राहुल गांधी         BIG NEWS : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के पहले मनोवैज्ञानिक बढ़त हासिल कर ली है भाजपा ने         BIG NEWS : सेना दिवस पर सेनाध्यक्ष एमएम नरवणे ने कहा – “जवानों का बलिदान हमेशा याद रखा जाएगा”         BIG NEWS : चीन को लगा बड़ा झटका, अमेरिका ने Xiaomi समेत 9 चीनी कंपनियों को किया ब्लैक लिस्ट         BIG NEWS : पाकिस्तान की बेइज्जती, मलेशिया ने कर्ज ना चुकाने पर विमान जब्त कर यात्रियों को उतारा         BIG NEWS : जम्मू-कश्मीर में 270 से अधिक आतंकवादी अब भी सक्रिय, कार्रवाई जारी         BIG NEWS : कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए चीन पहुंची WHO की टीम, वुहान शहर से शुरू की जांच         सुप्रीमकोर्ट के निर्णय से क्यों असहमत हैं "अन्नदाता"?         BIG NEWS : कठुआ में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर BSF को फिर मिली सुरंग, घुसपैठ के लिए इस्तेमाल करते थे आतंकी         BIG NEWS : श्रीनगर में लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकी सहयोगी गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : कनाडा के MP ने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ, कहा – भारत सरकार द्वारा कश्मीरी पंडितों की घर वापसी की योजना सराहनीय कदम         BIG NEWS : भारत बायोटेक की कोवैक्सिन की भी डिलीवरी शुरू, रांची समेत 11 शहरों में पहली खेप भेजी         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, साइबर क्राइम के आरोप में 23 गिरफ्तार         BIG NEWS : महबूबा मुफ्ती ने फिर अलापा अनुच्छेद 370 का राग, कहा – “गुपकार गठबंधन छोटे चुनावी फायदों के लिए नहीं बल्कि जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे के लिए है”         सुप्रीम कोर्ट के प्रस्ताव को सरकार मानेगी, तो किसान क्या करेंगे ?         BIG NEWS : ट्रांजिट रिमांड पर भेजे गये पीडीपी नेता वहीद पारा और मुख्तियार अहमद , पूछताछ जारी         BIG NEWS : पाकिस्तान और चीन देश के लिए सबसे बड़ा खतरा, हर खतरे से निपटने के लिए सेना तैयार – सेना प्रमुख एमएम नरवणे         BIG NEWS : सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों के अमल पर लगाई रोक, चार सदस्यों की बनाई कमेटी         BIG NEWS : रुबिया सईद अपहरण मामले में यासीन मलिक समेत नौ को आरोपी बनाया         BIG NEWS : कोरोना वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट पुणे से रवाना         BIG NEWS : लद्दाख की भीषण ठंड थर थर कांपने लगे चीनी सैनिक, 10 हजार सैनिकों को LAC से हटाया         अच्छा सुनिए !         BIG NEWS : भूकंप के झटकों से हिली जम्मू-कश्मीर की धरती, रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 5.1, सहम उठे लोग         BIG NEWS : झारखंड में बर्ड फ्लू ! कागजी घोड़ा दौड़ा रही है झारखंड की सरकार         BIG NEWS : PM मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा, हमारी वैक्सीन दुनिया में सबसे किफायती         BIG NEWS : किसान आंदोलन पर केंद्र के रवैये से सुप्रीम कोर्ट 'निराश', कहा- आप कानून होल्ड करेंगे या हम करें ?         BIG NEWS : किसानों के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, क्या है पूरा मामला        

आया लोहड़ी का त्यौहार

Bhola Tiwari Jan 14, 2021, 9:23 AM IST कॉलमलिस्ट
img

एसडी ओझा

नई दिल्ली : लोहड़ी वस्तुतः पंजाब व हरियाणा का त्यौहार है , लेकिन यह दिल्ली, जम्मू कश्मीर और हिमाचल में भी मनाया जाता है । आजकल यह पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बंगाल और उड़ीसा में भी मनाया जाने लगा है । यह मकर संक्रांति की पूर्व संध्या को मनाया जाता है । रात को खुले में आग जलाई जाती है । लोग आग के चारों ओर घेरा बनाकर नाचते हैं । खुशी मनाते हैं । रेवड़ी, गजक और मूंगफली खाते हैं । कुछ अग्नि देवता को भी खिलाते हैं । इस दिन के बाद से सूर्य मकर राशि में प्रवेश कर जाता है । सूर्य दक्षियाण से उत्तरायण में आता है । आज का दिन पौष मास का अंतिम दिन होता है ।

लोहड़ी तीन अक्षरों से बना है । ल+ ओहा + ड़ी । ल से लकड़ी । ओहा से सूखे उपले ( गोहा ) । ड़ी से रेवड़ी । यह दिन शीत के जाने और बसंत के आने का द्योतक है । आज के हीं दिन सती अपने पिता दक्ष प्रजापति के अग्नि कुण्ड में अपने प्राणों की आहुति दी थी । दक्ष ने अपने दामाद शिव व पार्वती को अपने यज्ञ में नहीं बुलाया था । फिर भी पार्वती शिव के मना करने के बावजूद यज्ञ में शामिल हुईं थीं । वहाँ उन्होंने शिव का अपमान देखा । यज्ञ में शिव का भाग न निकालने पर सती ने क्षुब्ध हो यज्ञ कुण्ड में कूद गयीं थीं ।

आज का दिन सती के बलिदान को याद करने का भी दिन है । यह त्यौहार सती के प्रायश्चित का दिन भी है । लोहड़ी के दिन लड़कियों को खुश रखा जाता है । उनके ससुराल में कपड़ा, मिठाई व फल भेजा जाता है । इसे लोहड़ी भेजना कहा जाता है । इस तरह से मायके वाले बेटी को सौगात भेजकर सती को खुश करते हैं । किसी तरह के अनिष्ट की आशंका को निर्मूल करते हैं ।

इसी तरह का सौगात पूर्वांचल में भी भेजा जाता है । इसे खिचड़ी भेजना कहते हैं । खिचड़ी के सौगात में बेटी के घर तिलवा भेजा जाता है । साथ में कपड़े भी । ऐसा कर पूर्वांचली लोग सती से क्षमा याचना करते हैं । सबको क्षमा मिल गयी , लेकिन यक्ष को क्षमा नहीं मिली । वे बेचारे भी बेटियों को सीरनी सौगात तो भेजते हैं , पर वे शापित हैं । उनके वंशज राजसी ठाठ छोड़ मिट्टी के वर्तन बनाते हैं । फिर भी प्रजापति कहलाते हैं । जब प्रजा हीं नहीं रही तो वे किसके पति है ? 

पोंगल का त्यौहार भी लोहड़ी व मकर संक्रांति के आस पास हीं मनाया जाता है । राजा बाली को विष्णु ने वामन रुप धारण कर छल से पाताल लोक भेज दिया था । कहते हैं कि राजा बाली पोंगल के दिन पृथ्वी पर वापस आते हैं । अपनी प्रजा जनों का हाल चाल लेकर फिर वापस पाताल लोक चले जाते हैं । पोंगल की सीरनी भी बेटियों को भेजी जाती है । 

लोहड़ी से एक महीने पहले लड़के लड़कियाँ लोगों से उपले व लकड़ियां मांगना शुरू कर देते हैं । मांगने का तरीका भी शानदार होता है । वे कहते हैं-  

दे नी माई पाथी 

तेरा पूत चढ़ेगा हाथी ।

अब कौन माँ अपने पूत को हाथी पर चढ़ाना नहीं चाहेगी । हाथी चढ़ने का मतलब ऊंचा ओहदा मिलना होता है । ऐसे में माई पाथी (उपला) जरुर देगी ।लोहड़ी का दूसरा नाम " मोहमाई " या " महामाई " भी है । लोहड़ी से कुछ दिन पहले बच्चे दूकानदारों से महामाई के नाम पर चंदा लेते हैं । इस पैसे से रेवड़ी, गजक और मूंगफली खरीदते हैं । कुछ खाते हैं और कुछ बांटते हैं ।

लोहड़ी का विवाह भी होता है । कुछेक बच्चे शरारतन अपनी लोहड़ी की आग दूसरे की लोहड़ी में डाल देते हैं । यह उनकी लोहड़ी का दूसरी लोहड़ी से विवाह होना माना जाता है । ऐसे में क्लेश हो जाता है । मार पीट की नौबत आ जाती है । ऐसा गाँव घरों में हीं होता है । गाँव के बुजुर्ग इन झगड़ों को निपटाने का काम करते हैं ।

लोहड़ी के आग के सामने बैठकर दुला भट्टी की कहानी भी कही सुनी जाती है । दुला भट्टी बादशाह अकबर का समकालीन था । उस दौर में लड़कियों की खरीद बेच होती थी । दुला भट्टी ने इसी लोहड़ी के दिन कुछ लड़कियों का उद्धार किया था । दुला भट्टी की याद में भी लोहड़ी मनाई जाती है ।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links