ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : औरंगाबाद शहर का नाम बदलने को लेकर शिवसेना और कांग्रेस आमने-सामने         BIG NEWS : किसान आंदोलन, सुप्रीम कोर्ट में आज की सुनवाई पर नजर         BIG NEWS : पीएम मोदी ने देश के विभिन्‍न हिस्‍सों से केवड़िया को जोड़ने वाली 8 ट्रेनों को दिखाई हरी झंडी         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में भटके युवाओं को वापसी का मौका दे रही है सेना, बीते 6 माह में 17 आतंकियों ने किया सरेंडर - लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू         BIG NEWS : सोपोर में फर्जी लश्कर-ए-तैयबा मॉड्यूल का भंडाफोड़, इमाम समेत तीन गिरफ्तार         BIG NEWS : त्राल में आतंकियों के 5 मददगार गिरफ्तार, चिपकाए थे धमकी भरे पोस्टर         BIG NEWS : भर आई पीएम मोदी की आंखें, सैकड़ों साथी घर लौटकर नहीं आए, आज कोरोना से निपटने में देश सक्षम         हार्वर्ड ने बुलाया नहीं और एनडीटीवी ने पट नहीं खोला ...         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण की हुई शुरुआत, 100 स्वास्थ्य कर्मियों को लगी वैक्सीन         BIG NEWS : घाटी में आतंक के खिलाफ कार्रवाई जारी, कुपवाड़ा में एक सक्रिय आतंकी ठिकाना ध्वस्त, हथियार बरामद         नया भारत आर्य-अनार्य की संघर्ष भूमि न बने ...         भाजपा और ओवैसी दोनो के चारों हाथों में लड्डू..         BIG NEWS : बवाल के बाद होश में आया व्हाट्सएप, प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट को किया स्थगित         BIG NEWS : देशभर में आज से लगेगा कोरोना का टीका         किसान आंदोलन और राहुल गांधी         BIG NEWS : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के पहले मनोवैज्ञानिक बढ़त हासिल कर ली है भाजपा ने         BIG NEWS : सेना दिवस पर सेनाध्यक्ष एमएम नरवणे ने कहा – “जवानों का बलिदान हमेशा याद रखा जाएगा”         BIG NEWS : चीन को लगा बड़ा झटका, अमेरिका ने Xiaomi समेत 9 चीनी कंपनियों को किया ब्लैक लिस्ट         BIG NEWS : पाकिस्तान की बेइज्जती, मलेशिया ने कर्ज ना चुकाने पर विमान जब्त कर यात्रियों को उतारा         BIG NEWS : जम्मू-कश्मीर में 270 से अधिक आतंकवादी अब भी सक्रिय, कार्रवाई जारी         BIG NEWS : कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए चीन पहुंची WHO की टीम, वुहान शहर से शुरू की जांच         सुप्रीमकोर्ट के निर्णय से क्यों असहमत हैं "अन्नदाता"?         BIG NEWS : कठुआ में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर BSF को फिर मिली सुरंग, घुसपैठ के लिए इस्तेमाल करते थे आतंकी         BIG NEWS : श्रीनगर में लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकी सहयोगी गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : कनाडा के MP ने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ, कहा – भारत सरकार द्वारा कश्मीरी पंडितों की घर वापसी की योजना सराहनीय कदम         BIG NEWS : भारत बायोटेक की कोवैक्सिन की भी डिलीवरी शुरू, रांची समेत 11 शहरों में पहली खेप भेजी         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, साइबर क्राइम के आरोप में 23 गिरफ्तार         BIG NEWS : महबूबा मुफ्ती ने फिर अलापा अनुच्छेद 370 का राग, कहा – “गुपकार गठबंधन छोटे चुनावी फायदों के लिए नहीं बल्कि जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे के लिए है”         सुप्रीम कोर्ट के प्रस्ताव को सरकार मानेगी, तो किसान क्या करेंगे ?         BIG NEWS : ट्रांजिट रिमांड पर भेजे गये पीडीपी नेता वहीद पारा और मुख्तियार अहमद , पूछताछ जारी         BIG NEWS : पाकिस्तान और चीन देश के लिए सबसे बड़ा खतरा, हर खतरे से निपटने के लिए सेना तैयार – सेना प्रमुख एमएम नरवणे         BIG NEWS : सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों के अमल पर लगाई रोक, चार सदस्यों की बनाई कमेटी         BIG NEWS : रुबिया सईद अपहरण मामले में यासीन मलिक समेत नौ को आरोपी बनाया         BIG NEWS : कोरोना वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट पुणे से रवाना         BIG NEWS : लद्दाख की भीषण ठंड थर थर कांपने लगे चीनी सैनिक, 10 हजार सैनिकों को LAC से हटाया         अच्छा सुनिए !         BIG NEWS : भूकंप के झटकों से हिली जम्मू-कश्मीर की धरती, रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 5.1, सहम उठे लोग         BIG NEWS : झारखंड में बर्ड फ्लू ! कागजी घोड़ा दौड़ा रही है झारखंड की सरकार         BIG NEWS : PM मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा, हमारी वैक्सीन दुनिया में सबसे किफायती         BIG NEWS : किसान आंदोलन पर केंद्र के रवैये से सुप्रीम कोर्ट 'निराश', कहा- आप कानून होल्ड करेंगे या हम करें ?         BIG NEWS : किसानों के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, क्या है पूरा मामला         BIG NEWS : रामबन के केला मोड़ इलाके में पुल के क्षतिग्रस्त होने पर श्रीनगर हाईवे बंद        

युगों बाद युग बदल रहा है...

Bhola Tiwari Jan 14, 2021, 9:13 AM IST कॉलमलिस्ट
img


सर्वेश तिवारी श्रीमुख

गोपालगंज : कुछ ही दिन पूर्व अयोध्या में भगवान के मंदिर की पहली ईंट रखी गयी है। नब्बे का वह दौर याद आता है। लाखों लोग, दोगुनी आंखे, राम नाम की धूम, लाखों कलेजों की उम्मीदें, बन्दूक की गोलियां, रक्त, हाहाकार, मृत्यु, शान्ति... प्रलय के बाद की शान्ति केवल सनातन भाव जो जन्म देती है। पीड़ा की कोख से ही देवत्व जन्म लेता है।

    अयोध्या का मन्दिर इस बात के लिए भी विश्व में अनूठा होगा कि उसके लिए प्रजा ने पाँच शताब्दियों तक लड़ाई लड़ी है। इसके लिए असँख्य बार, असँख्य बीरों ने धर्म के हवनकुण्ड में अपने जीवन की आहुति दी है... बार बार पराजित हुए, गिरे, पर फिर उठ कर खड़े हुए और लड़े... और अंततः जीते...

     अयोध्या ने सिद्ध किया है कि धर्म की लड़ाइयां पाँच सौ वर्षों के बाद भी जीती जा सकती हैं, बस अपने मार्ग पर चलते रहना है। आज के समय में किसी क्षणिक पराजय के बाद ही लोग हतोत्साहित हो कर विलाप करने लगते हैं कि 'सब समाप्त हो गया, हमें कोई बचा नहीं सकता...' अब ऐसे समय में अयोध्या का मन्दिर ऊर्जा देने का काम करेगा कि हम पराजित नहीं हो सकते... अंत में धर्म ही जीतेगा। जो खतरे में आ जाय वह धर्म नहीं हो सकता। धर्म न संकट में पड़ता है, न समाप्त होता है।

      नियति का खेल बड़ा मनोरंजक होता है। ध्यान से देखिये समय ने कितना अद्भुत संयोजन किया है। महाराज हेमचंद्र विक्रमादित्य (१५५६ ई) के बाद सन २०१४ में पहली बार भारत की केंद्रीय सत्ता पर कोई ऐसा व्यक्ति पहुँचता है, जिसे स्वयं को हिन्दू कहने में लज्जा नहीं आती। वह निकलता है तो भगवान शिव की नगरी बनारस से...वह तिलक लगाता है, भगवा पहनता है... उसके दो वर्षों बाद ही समय उत्तर प्रदेश के सिंहासन पर एक साधु को बैठाता है। मुझे लगता है भारत में किसी साधु के राजा होने की यह पहली ही घटना होगी... साधु भी वे, जिनकी गद्दी ने राममन्दिर के लिए लड़ी गयी लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वर्षों से जातियों के नाम पर टूटी जनता धर्म के नाम पर एक साथ खड़ी होती है, और तब आता है सन 2020... अचानक सब कुछ आसान लगने लगता है। दोनों पक्ष ही कहने लगते हैं कि मंदिर बनना चाहिए... और...

      कब क्या होना है और किसके हाथों होना है, यह समय तक कर के बैठा है। समय ने तय किया था कि मन्दिर की ईंट किसी नेता, किसी राजा के हाथों नहीं बल्कि एक सन्त के हाथों रखी जायेगी। वही हुआ... है न अद्भुत?

     वर्तमान भारत को याद है कि दो हजार वर्ष पूर्व महाराज विक्रमादित्य ने अयोध्या का पुनरुद्धार किया था, और भव्य मंदिर बनवाया था। भारत को यह भी याद है उस प्राचीन मंदिर का भव्य पुनर्निर्माण कनौज नरेश महाराज विजयचन्द्र ने कराया था। भविष्य का भारत भी पूरी श्रद्धा के साथ स्मरण रखेगा कि आधुनिक युग में मन्दिर का निर्माण गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ जी महाराज के काल में हुआ था। समय ने योगी बाबा को सहस्त्राब्दियों तक के लिए स्थापित कर दिया है/अमर कर दिया है।

      वे असँख्य लोग जिन्होंने आज का दिन दिखाने के लिए अपनी आहुति दी थी, उनको सादर नमन। हमें तो उन सब के नाम भी याद नहीं। नाम याद है केवल दो कोठारी भाइयों का... वे दोनों बलिदानी उन असँख्य बलिदानियों के प्रतिनिधि के रूप में याद किये जायेंगे, पूजे जाएंगे। मुझे लगता है उन असँख्य वीरों की याद में वहीं कहीं एक छोटा सा मन्दिर भी बनना चाहिए, ताकि भविष्य उन नव-दधिचियों को प्रणाम कर सके...

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links