ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : औरंगाबाद शहर का नाम बदलने को लेकर शिवसेना और कांग्रेस आमने-सामने         BIG NEWS : किसान आंदोलन, सुप्रीम कोर्ट में आज की सुनवाई पर नजर         BIG NEWS : पीएम मोदी ने देश के विभिन्‍न हिस्‍सों से केवड़िया को जोड़ने वाली 8 ट्रेनों को दिखाई हरी झंडी         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में भटके युवाओं को वापसी का मौका दे रही है सेना, बीते 6 माह में 17 आतंकियों ने किया सरेंडर - लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू         BIG NEWS : सोपोर में फर्जी लश्कर-ए-तैयबा मॉड्यूल का भंडाफोड़, इमाम समेत तीन गिरफ्तार         BIG NEWS : त्राल में आतंकियों के 5 मददगार गिरफ्तार, चिपकाए थे धमकी भरे पोस्टर         BIG NEWS : भर आई पीएम मोदी की आंखें, सैकड़ों साथी घर लौटकर नहीं आए, आज कोरोना से निपटने में देश सक्षम         हार्वर्ड ने बुलाया नहीं और एनडीटीवी ने पट नहीं खोला ...         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण की हुई शुरुआत, 100 स्वास्थ्य कर्मियों को लगी वैक्सीन         BIG NEWS : घाटी में आतंक के खिलाफ कार्रवाई जारी, कुपवाड़ा में एक सक्रिय आतंकी ठिकाना ध्वस्त, हथियार बरामद         नया भारत आर्य-अनार्य की संघर्ष भूमि न बने ...         भाजपा और ओवैसी दोनो के चारों हाथों में लड्डू..         BIG NEWS : बवाल के बाद होश में आया व्हाट्सएप, प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट को किया स्थगित         BIG NEWS : देशभर में आज से लगेगा कोरोना का टीका         किसान आंदोलन और राहुल गांधी         BIG NEWS : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के पहले मनोवैज्ञानिक बढ़त हासिल कर ली है भाजपा ने         BIG NEWS : सेना दिवस पर सेनाध्यक्ष एमएम नरवणे ने कहा – “जवानों का बलिदान हमेशा याद रखा जाएगा”         BIG NEWS : चीन को लगा बड़ा झटका, अमेरिका ने Xiaomi समेत 9 चीनी कंपनियों को किया ब्लैक लिस्ट         BIG NEWS : पाकिस्तान की बेइज्जती, मलेशिया ने कर्ज ना चुकाने पर विमान जब्त कर यात्रियों को उतारा         BIG NEWS : जम्मू-कश्मीर में 270 से अधिक आतंकवादी अब भी सक्रिय, कार्रवाई जारी         BIG NEWS : कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए चीन पहुंची WHO की टीम, वुहान शहर से शुरू की जांच         सुप्रीमकोर्ट के निर्णय से क्यों असहमत हैं "अन्नदाता"?         BIG NEWS : कठुआ में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर BSF को फिर मिली सुरंग, घुसपैठ के लिए इस्तेमाल करते थे आतंकी         BIG NEWS : श्रीनगर में लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकी सहयोगी गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : कनाडा के MP ने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ, कहा – भारत सरकार द्वारा कश्मीरी पंडितों की घर वापसी की योजना सराहनीय कदम         BIG NEWS : भारत बायोटेक की कोवैक्सिन की भी डिलीवरी शुरू, रांची समेत 11 शहरों में पहली खेप भेजी         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, साइबर क्राइम के आरोप में 23 गिरफ्तार         BIG NEWS : महबूबा मुफ्ती ने फिर अलापा अनुच्छेद 370 का राग, कहा – “गुपकार गठबंधन छोटे चुनावी फायदों के लिए नहीं बल्कि जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे के लिए है”         सुप्रीम कोर्ट के प्रस्ताव को सरकार मानेगी, तो किसान क्या करेंगे ?         BIG NEWS : ट्रांजिट रिमांड पर भेजे गये पीडीपी नेता वहीद पारा और मुख्तियार अहमद , पूछताछ जारी         BIG NEWS : पाकिस्तान और चीन देश के लिए सबसे बड़ा खतरा, हर खतरे से निपटने के लिए सेना तैयार – सेना प्रमुख एमएम नरवणे         BIG NEWS : सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों के अमल पर लगाई रोक, चार सदस्यों की बनाई कमेटी         BIG NEWS : रुबिया सईद अपहरण मामले में यासीन मलिक समेत नौ को आरोपी बनाया         BIG NEWS : कोरोना वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट पुणे से रवाना         BIG NEWS : लद्दाख की भीषण ठंड थर थर कांपने लगे चीनी सैनिक, 10 हजार सैनिकों को LAC से हटाया         अच्छा सुनिए !         BIG NEWS : भूकंप के झटकों से हिली जम्मू-कश्मीर की धरती, रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 5.1, सहम उठे लोग         BIG NEWS : झारखंड में बर्ड फ्लू ! कागजी घोड़ा दौड़ा रही है झारखंड की सरकार         BIG NEWS : PM मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा, हमारी वैक्सीन दुनिया में सबसे किफायती         BIG NEWS : किसान आंदोलन पर केंद्र के रवैये से सुप्रीम कोर्ट 'निराश', कहा- आप कानून होल्ड करेंगे या हम करें ?         BIG NEWS : किसानों के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, क्या है पूरा मामला         BIG NEWS : रामबन के केला मोड़ इलाके में पुल के क्षतिग्रस्त होने पर श्रीनगर हाईवे बंद        

BIG NEWS : रुबिया सईद अपहरण मामले में यासीन मलिक समेत नौ को आरोपी बनाया

Bhola Tiwari Jan 12, 2021, 9:26 AM IST टॉप न्यूज़
img

 

टोनी पाधा 

श्रीनगर : रुबिया सईद अपहरण मामले में एफ आई आर दर्ज होने की टीम दशक बाद विशेष न्यायाधीश टाडा जम्मू सुनित गुप्ता ने जेकेएलएफ सुप्रीमो यासीन मलिक सहित नौ अन्य आरोप तय किए हैं। आरोपियों में अली मोहम्मद मीर, मोहम्मद जमन मीर, इकबाल अहमद गांदरू, जावेद अहमद मीर, मोहम्मद रफीक पाहलो उर्फ नान जी उर्फ सलीम, मंजूर अहमद सोफी, वजाहत बशीर, महराज-उद-दीन शेख और शौकत अहमद बख्शी शामिल हैं। आरोप हैं कि सभी ने एक आपराधिक षड्यंत्र के तहत डॉ. रुबिया सईद का अपहरण किया और उसे रिहा करने के बदले जेकेएलएफ के पांच आतंकवादियों को छुड़वाया। 

बकौल सीबीआई दिसंबर 1989 के पहले सप्ताह में चार्जशीट के आरोपियों ने डॉ. रुबिया सईद का अपहरण किया। रिपोर्ट के मुताबिक डॉ. रुबिया ललदेद अस्पताल से इंटर्नशिप प्रशिक्षण लेकर घर लौट रहीं थीं। इस अपहरण के एवज में विभिन्न जेलों में बंद पांच आतंकियों को छुड़वाया गया था। अपहरण में मारुति कार का इस्तेमाल किया गया जिसका नंबर जेकेई-7300 था। 

रिपोर्ट के मुताबिक 8 दिसंबर 1989 को आरोपी यासीन मलिक, मोहम्मद रफीक डार, अली मोदम्मद मीर, इकबाल अहमद गांदरू, मुश्ताक अहमद लोन, मंजूर अहमद सोफी, वजाहत बशीर, महराज-उद-दीन शेख, शौकत अहमद बख्शी, जावेद अहमद, नानाजी, रियाज अहमद भट्ट, खुर्शीद अहमद डार, बशारत रहमान, तारिक अशरफ, शफकत अहमद शांगलो, मंजूर अहमद सभी आरोपी मुश्ताक अहमद लोन के घर पर इकट्ठा हुए और डॉ. रुबिया सईद के अपहरण की साजिश रची। 

डॉ. रुबिया अस्पताल से अपने आवास नोगाम बाईपास श्रीनगर से लौट रही थी। आरोपी मोहम्मद जमन मीर अस्पताल के मुख्य गेट पर मौजूद था। सभी योजना के तहत छोटे-छोटे समूह में बंटे हुए थे। आरोपी यासीन मलिक ने डॉ. रुबिया को अपनी शिनाख्त बताने को कहा। उक्त दिन शाम 3.45 बजे डॉ. रुबिया अस्पताल से अपनी सहेली डॉ. मिस नरगिस अंद्राबी के साथ लौट रही थी और मेटाडोर प्वाइंट तक पहुंची। डॉ. सईद 4 बजे अपनी सहेली को छोड़कर टाटा मिनी बस नंबर जेकेएफ-0697 में बैठकर नोगाम बाईपास की ओर चली गई। नोगाम बाई पास के अंतिम स्टाप पर आरोपी यासीन मलिक और इशफाक माजिद वानी ने अन्य आरोपियों के सहयोग से मिनी बस के चालक पर पिस्टल तानकर उसे बिना रुके चलने को कहा। एक अन्य आरोपी मिराज उद दीन ने एके-47 राइफल के साथ डा. रुबिया समेत सभी सवारियों को चुपचाप बैठने के लिए कहा। करालपोरा के पास आरोपी यासिन मलिक, इश्फाक अहमद वानी और अन्य आरोपियों ने डॉ. सईद को मिनी बस से नीचे उतरने को कहा। उसे नीले रंग की मारुति कार में बैठने को कहा, जिसे आरोपी अली मोहम्मद मीर चला रहा था। 

दो घंटे के भीतर डॉ. सईद को फ्लैट बी-1 सिंचाई कालोनी सोपोर में शिफ्ट किया गया। डॉ. सईद को 13 दिसंबर 1989 को पांच आतंकियों की रिहाई के एवज में रिहा किया गया। इन आतंकियों में हमीद शेख, अल्ताफ अहमद भट्ट, नूर मोहम्मद खलवाल, जावेद अहमद जरगर और शेर खान हैं, जो उस समय विभिन्न जेलों में बंद थे। 

 आरोपी अली मोहम्मद मीर ने स्वैच्छिक रूप से इकबालिया बयान में अपहरण में अपनी आपराधिक भूमिका स्वीकार की। अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद प्रथम दृष्टया में अनुमान लगाया कि आरोपी यासीन मलिक, अली मोहम्मद, मीर इकबाल अहमद, मंजूर अहमद सोफी, महराज उददीन शेख और रफीक अहमद ने धारा 364/368/120-बी आरपीसी, 3/4 टाडा अधिनियम और 27 आईए अधिनियम के तहत अपराध किए हैं, जबकि आरोपी मोहम्मद जमान मीर, जावेद अहमद मीर, वजाहत बशीर, शौकत अहमद बख्शी ने धारा 120 बी के तहत धारा 368 आरपीसी और धारा 3/4 के तहत टाडा अधिनियम के तहत अपराध किए हैं। इसलिए प्रत्येक आरोपी के लिए अलग से आरोप तय किए जाने आवश्यक हैं।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links