ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : आतंकी संगठन अल-कायदा मॉड्यूल का  भंडाफोड़, 9 आतंकी गिरफ्तार         BIG NEWS : पश्चिम बंगाल और केरल में एनआईए की छापेमारी, अल-कायदा के नौ आतंकी गिरफ्तार         BIG NEWS : दिशा सालियान के साथ चार लोगों ने कियारेप !         अनिल धस्माना को NTRO का बनाया गया अध्यक्ष         जहां शिवलिंग पर हर बारह साल में गिरती है बिजली         BIG NEWS : पाकिस्तान की नई चाल, गिलगित-बल्तिस्तान को प्रांत का दर्जा देकर चुनाव कराने की तैयारी         BIG NEWS : सहायक पुलिस कर्मियों पर लाठीचार्ज, कई घायल, आंसू गैस के गोले छोड़े         BIG NEWS : सर्दी के मौसम में लद्दाख में मोर्चाबंदी के लिए सेना पूरी तरह तैयार          “LAC पर चीन को भारत के साथ मिलकर सैनिकों की वापसी प्रक्रिया पर काम करना चाहिए” :  विदेश मंत्रालय प्रवक्ता         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर पहुंचे सेनाध्यक्ष ने सुरक्षा स्थिति का लिया जायजा, उपराज्यपाल से भी की मुलाकात         BIG NEWS : 'मैं भी मारा जाऊंगा'         एक ऐसा मंदिर जहां पार्वतीजी होम क्वारैंटाइन में और महादेव कर रहे हैं इंतजार         अदृश्य भक्त करता है रोज भगवान शिव की आराधना , कौन है वो ?         BIG NEWS : सुरक्षाबलों ने जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी ठिकाना ढूंढ निकाला, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद         BIG NEWS : “भारत बड़ा और कड़ा क़दम उठाने के लिए तैयार”: राजनाथ सिंह         BIG NEWS : श्रीनगर एनकाउंटर में तीन आतंकियों को मार गिराया         इलाहाबाद में एक मंदिर ऐसा, जहां लेटे हैं हनुमान जी         यहां भगवान शिव के पद चिन्ह है मौजूद         BIG NEWS : दोनों देशों की सेनाओं के बीच 20 दिन में तीन बार हुई फायरिंग         BIG NEWS : मॉस्को में विदेश मंत्रियों की मुलाकात से पहले पैंगोंग सो झील के किनारे चली थी 100-200 राउंड गोलियां- मीडिया रिपोर्ट         BIG NEWS : पाकिस्तानी सेना ने सुंदरबनी सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         CBI को दिशा सलियान की मौत की गुत्थी सुलझाने वाले कड़ी की तलाश !         हर साल बढ़ जाती है इस शिवलिंग की लंबाई, कहते हैं इसके नीचे छिपी है मणि         कलयुग में यहां बसते हैं भगवान विष्णु...         BIG NEWS : देश से बाहर प्याज निर्यात पर प्रतिबंध         BIG NEWS :  LAC पर हालात बिल्कुल अलग, हम हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार : राजनाथ सिंह          BIG NEWS : गांदरबल में हिज्बुल मॉड्यूल का पर्दाफाश, हथियारों के साथ 3 हिज्बुल आतंकी गिरफ्तार         भाषा के सवाल को अनाथ छोड़ दिया गया है ...         कैलाश पर्वत श्रृंखला के पहाडि़यों पर कब्जा करने के बाद उमंग में नहा गए सेना के जवान         शिव के डमरू से बंधे हैं स्वरनाद और सारे शब्द          BIG NEWS : कैलाश पर्वत-श्रृंखला पर भारत का कब्जा         BIG NEWS : चीन कर रहा भारत की जासूसी, लिस्ट में पीएम नरेंद्र मोदी समेत कई बड़ी हस्तियों के नाम शामिल         सुरंगों के जरिए आतंकवादी कर रहे हैं घुसपैठ, हथियार सप्लाई के लिए पाकिस्तान कर रहा ड्रोन का इस्तेमाल : डीजीपी दिलबाग सिंह         BIG NEWS : दिल्ली दंगे मामले में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, JNU के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद गिरफ्तार        

••••• कहीं न कहीं गुलामी का दर्द है

Bhola Tiwari Jun 09, 2019, 6:17 AM IST टॉप न्यूज़
img

प्रवीण झा 

(जाने माने चिकित्सक नार्वे)

जे सुशील ने ब्लूज़ की बात छेड़ी तो याद आया 2003 में एक पाँच सौ डॉलर की खटारा गाड़ी खरीदी, जिसे लेकर इलिनॉइस में दुबका रहता था। गोरों का शहर था, भारतीय यूँ भी दुबके घेट्टो बनाए रहते थे। हालांकि अपनी सीमा में आते ही शेर बन जाते। खैर, पता लगा दो जानकार एफओबी (फ्रेश ऑन बर्ड) मेम्फिस शहर आए हैं। मुझे फोन किया कि अमरीक्का का कुछ समझ नहीं आ रहा। मेरे भी कुछ ही महीने हुए थे, गाड़ी भी खटारा थी। दोस्त ने पूछा कि कितनी खटारा है? चलाते हुए बोनट हिलता है? मैंने कहा-हाँ यार! बड़ी बुरी स्थिति है। उसने कहा कि बिल्कुल आदर्श है। 

मेम्फ़ीस में गर गाड़ी खटारा न हो, और बोनट न हिले तो आदमी बाहर का लगता है। यह गोरों की बस्ती का ठीक उल्टा मामला था। वहाँ तो गाड़ी थोड़ी खराब हुई, पाँच सौ डॉलर में डंप कर दी। मेम्फ़ीस में? खटारा रॉक्स! 

वहाँ पहुँच कर अचानक कॉलर ऊँची हो गयी। अश्वेत शहर में जैसे होमली फ़ील हो रहा था। कमरे पर पहुँचते ही मित्र ने कहा कि कल नीचे गैस स्टेशन (पेट्रोल पंप) पर गोली चली। मैंने कहा कि भाई! मस्त माहौल है। गाड़ी निकाल घूमने निकले तो एक त्रिकोणाकार इमारत दिखाई जिसके अंदर माइक टायसन घूँसे मारते थे। कुछ ही देर में हम ‘बील स्ट्रीट’ पहुँच गए जहाँ रास्ता बंद था और सब सड़क पर नाच-गा रहे थे। और वहीं एक कोना था, जहाँ एक अश्वेत व्यक्ति पसीने से तर-बतर यूँ गा रहा था जैसे सब कुछ लुट गया हो। गाते-गाते ही वह हमारे पास झुक कर गुस्से में घूरता और रुआँसा मुँह कर लेता। समझ नहीं आया कि यह क्या गीत है, करुणा और आक्रोश का भला यह क्या कॉम्बो है? चाहे गायक सौ पर्फॉर्मेंस दे चुका हो, उसका गला रुँधेगा ही, आँसू बहेंगे ही और आवाज फिर भी बुलंद जब गाएगा-‘थ्रिल इज गॉन’

ब्लूज़ संगीत में कहीं न कहीं गुलामी का दर्द ही है, जो प्रेम-विरह का आवरण ओढ़े है। नॉर्वे में हर शहर में इसका केंद्र है, लेकिन गवैये बाहर से ही बुलाए जाते हैं। अपवाद हुए, लेकिन सच यह है कि ब्लूज़ गोरे गा ही नहीं सकते।


(भारतीय लोकगीतों में भी मिलते-जुलते गीत और वाद्य हैं जिसे एक ख़ास समुदाय ही उस रस से गा-बजा सकते थे और कारक भी मिलते-जुलते ही हैं।)

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links