ब्रेकिंग न्यूज़
TIT FOR TAT : आंखों में आंख डालकर खड़ी है भारतीय सेना         BINDASH EXCLUSIVE : गिलगित-बाल्टिस्तान में बौद्ध स्थलों को मिटाकर इस्लामिक रूप दे रहा है पाकिस्तान         अब पाकिस्तान में भी सही इतिहास पढ़ने की ललक जाग रही है....         BIG NEWS : लेह से 60 मजदूर रांची पहुंचे, एयरपोर्ट पर अभिभावक की भूमिका में नजर आए सीएम हेमंत सोरेन         BIG NEWS : CM हेमंत सोरेन का संकेत, सूबे में बढ़ सकता है लॉकडाउन !         कश्मीर जा रहा एलपीजी सिलेंडर से भरा ट्रक बना आग का गोला, चिंगारी के साथ बम की तरह निकलने लगी आवाजें         BIG NEWS : मशहूर ज्योतिषी बेजन दारूवाला का निधन, कोरोना संक्रमण के बाद अस्पताल में थे भर्ती         नहीं रहे अजीत जोगी          BIG NRWS  : IED से भरी कार के मालिक की हुई शिनाख्त         SARMNAK : कोविड वार्ड में ड्यूटी पर तैनात जूनियर डॉक्टर से रेप की कोशिश         BIG NEWS : चीन बोला, मध्यस्थता की कोई जरूरत नहीं, भारत और चीन भाई भाई         BIG NEWS : लद्दाख पर इंडियन आर्मी की पैनी नजर, पेट्रोलिंग जारी         BIG NEWS : डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा, चीन से सीमा विवाद पर मोदी अच्छे मूड में नहीं         BIG STORY : धरती की बढ़ती उदासी में चमक गये अरबपति         समाजवादी का कम्युनिस्ट होना जरूरी नहीं...         चीन और हम !         BIG NEWS : CRPF जवानों को निशाना बनाने के लिए जैश ने रची थी बारूदी साजिश !         BIG NEWS : अमेरिका का मुस्लिम कार्ड : चीन के खिलाफ बिल पास, अब पाक भी नहीं बचेगा         एयर एशिया की फ्लाइट से रांची उतरते ही श्रमिकों ने कहा थैंक्यू सीएम !         वियतनाम : मंदिर की खुदाई के दौरान 1100 साल पुराना शिवलिंग मिला         BIG NEWS : पुलवामा में एक और बड़े आतंकी हमले की साजिश नाकाम, आईईडी से भरी कार बरामद, निष्क्रिय         झारखंड के चाईबासा में पुलिस और नक्सलियों के बीच भीषण मुठभेड़, 3 उग्रवादी ढेर 1 घायल         भारतीय वायु सेना की बढ़ी ताकत, सियाचिन बॉर्डर इलाके में चिनूक हैलीकॉप्टर किए तैनात          क्या किसी ने ड्रैगन को म्याऊं म्याऊं करते सुना है ?         सत्ताइस साल बाद क्यों भयंकर हुए टिड्डे...         BIG NEWS : दो महीने का बस भाड़ा नहीं लेंगे और ना ही फीस बढ़ाएंगे निजी स्कूल         BIG NEWS : घुटने के बल आया चीन, कहा- दोनों देश एक दूसरे के दुश्मन नहीं         BIG NRWS : बिना परीक्षा दिए प्रमोट होंगे इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक के विद्यार्थी         CBSE EXAMS : जो छात्र जहां फंसा है, अब वहीं दे सकेगा बची परीक्षा         BIG NEWS : भारत में फंसे 179 पाकिस्तानी नागरिक अटारी-वाघा बार्डर के रास्ते अपने वतन लौटे         इंडियन आर्मी देगी माकूल जवाब, भारत नहीं रोकेगा निर्माण कार्य         नेहरू जी ने भरे संसद में ये कहा था कि चीन पर विश्वास करना उनकी बडी भूल थी....         BIG NEWS : अमेरिका के बाद भारत और WHO आमने-सामने, इंडियन वैज्ञानिकों ने WHO के सुझाव को नकारा         भारत के 'चक्रव्यूह' में फंसेगा 'ड्रैगन'         युद्ध की तैयारी में चीन !         BIG NEWS : रांची के रिम्स में जब पोस्टमार्टम से पहले जिंदा हुआ मुर्दा         अमेरिका ने चीन की 33 कंपनियों को किया ब्लैकलिस्ट, ड्रैगन भी कर सकता है पलटवार         BIG NEWS : भारत अड़ंगा ना डालें, गलवान घाटी चीन का इलाका        

भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने आतंकी भिंडरावाला को "संत" बताया

Bhola Tiwari Jun 08, 2019, 2:04 PM IST टॉप न्यूज़
img

अजय श्रीवास्तव

भाजपा के बड़बोले राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने फिर एकबार फिर विवादित ट्वीट कर कहा है कि जनरैल सिंह भिंडरावाला आतंकी नहीं संत था।उन्होंने एक कदम और आगे बढ़ते हुए कहा कि "आपरेशन ब्लूस्टार" सोवियत संघ की साजिश थी,ताकि हम(भारत)पाकिस्तान से अपने बचाव के लिए यूनियन आँफ सोवियत सोशलिस्ट रिपब्लिक्स(USSR)पर निर्भर रहे।

सुब्रह्मण्यम स्वामी ने खालिस्तान समर्थक और दुर्दांत आतंकी भिंडरावाले को संत कहकर एक नई बहस छेड़ दी है जो समय समय पर मुँह उठाती रहती है।खालिस्तान की मांग भिंडरावाला के बहुत पहले से है।

आजादी के बाद हीं देश विभाजित हो गया, धर्म के आधार पर पाकिस्तान बना।तभी से सिखों ने अलग राज्य की माँग उठाई।सिखों का कहना था कि जैसे धर्म के आधार पर पाकिस्तान बना है वैसे हीं सिखों को खालिस्तान के रूप में एक अलग देश की मान्यता मिले।

साल 1950 में आकाली दल ने अलग पंजाब राज्य बनाने के लिए आंदोलन चलाया। साल 1966 में आकाली दल की मांग को मानकर पंजाब,हरियाणा और केन्द्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ की स्थापना हुई।

अगर हम व्यापक दृष्टि से देखें तो पंजाब समस्या की शुरुआत 1970 के दशक में हो गई थी।1973 और 1978 में आकाली दल ने विवादास्पद आनंदपुर साहिब प्रस्ताव किया।मूल प्रस्ताव में सुझाया गया था कि भारत की केंद्र सरकार केवल रक्षा, विदेश नीति, संचार और मुद्रा पर अधिकार हो जबकि अन्य विषयों पर राज्यों को पूर्ण अधिकार हो।वे भारत के उत्तरी क्षेत्र में स्वायत्तता चाहते थे।उनकी माँग थी कि चंडीगढ़ केवल पंजाब की राजधानी हो।

जनरैल सिंह भिंडरावाला का जन्म 1947 में हुआ था,वे धार्मिक पढाई के लिए दमदमी टकसाल में शामिल हुए।बचपन से हीं बेहद मेघावी भिंडरावाला कुछ हीं सालों में बेहद लोकप्रिय हो गए थे।गुरू की मृत्यु के बाद भिंडरावाला दमदमी टकसाल के प्रमुख बन गए।

साल 1980 के दशक में खालिस्तान आंदोलन फिर जोर पकडा।आकाली दल की पकड़ लोगों के बीच बेहद कमजोर हो गई थी,इधर कट्टर धार्मिक संगठन दमदमी टकसाल के प्रमुख भिंडरावाला का कद नित नई ऊँचाइयों को छू रहा था।भिंडरावाला के भाषणों में ओज था,वो जिसे कुछ भी कह देते थे मान लेता था।

13 अप्रैल 1978,वैशाखी के दिन भिंडरावाला के समर्थक और निरंकारियों में खूनी झपड हुई जिसमें 13 भिंडरावाला समर्थकों की जान चली गई।ये वो समय था जिसने पंजाब की दशा और दिशा दोनों बदल दी थी।भिंडरावाला सिखों का धर्म गुरू बनकर उभरा और थोड़े हीं समय में पंजाब में छा गया।उन्होंने गैर सिखों को पंजाब से भगाना शुरू कर दिया।

इंदिरा गांधी और संजय गाँधी की शह पर वो आकाली दल का विरोध करता था।तत्कालीन गृहमंत्री ज्ञानी जैल सिंह भिंडरावाला का हर बात मानते थे।संजय गांधी ने भिंडरावाला को खूली छूट दे रखी थी।

उन्हीं दिनों पंजाब केसरी अखबार निकालने वाले हिंद समाचार समूह के मुखिया लाला जगत नरायण सिंह की हत्या कर दी जाती है,वे विभिन्न हिंदू संगठनों से जुड़े थे।पुलिस भिंडरावाला को अभियुक्त बनाती है मगर वो पर्याप्त सबूतों के अभाल में छूट जाता है,उन दिनों पंजाब में कांग्रेस की सरकार थी और दरबारा सिंह मुख्यमंत्री थे।भिंडरावाला इतना चालक और धुर्त था कि वो दोनों तरफ गेम खेलता रहा और कांग्रेस को शक भी नहीं हुआ।

उन दिनों पंजाब में गैर पंजाबियों का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी जाती थी,रेल की पटरियों को नुकसान पहुँचाया जाता था।

1983 में पंजाब पुलिस के डीआईजी एएस अटवाल की हत्या हो गई, बंदूकधारियों ने पंजाब रोड़वेज की बस को रूकवाकर चुन चुनकर हिंदूओं की हत्या कर दी।इस समय तक भिंडरावाला कांग्रेस के लिए भष्मासुर बन चुका था।खालिस्तान समर्थकों ने एयर इंडिया का विमान हाईजैक कर लिया।

जब पानी सर के ऊपर से गुजरने लगा तो केन्द्र सरकार ने पंजाब के मुख्यमंत्री दरबारा सिंह की सरकार को बर्खास्त कर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा दिया।स्थिति ये थी कि रोज दस बीस बेगुनाह हिंदू मारे जा रहे थे।पाकिस्तान से भिंडरावाला के पास आधुनिक हथियार पहुंच रहा था,भिंडरावाला को आगे कर पाकिस्तान अप्रत्यक्ष रूप से आतंकवाद में शामिल था।

2जून 1983 को इंदिरा गांधी ने आँल इंडिया रेडियो से देश को संबोधित किया और आतंकवादियों को हथियार छोड़ देने की अपील की।प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की अपील का कोई असर नहीं हुआ मगर देश ये जान गया था कि स्वर्ण मंदिर में कुछ होने वाला है।3 जून को वहाँ सेना ने स्वर्ण मंदिर को चारों तरफ से घेरकर कार्रवाई शुरू की।आतंकी भिंडरावाला ने स्वर्ण मंदिर में हथियारों का जखीरा जमा कर रखा था।आतंकियों की तरफ से जबर्दस्त फायरिंग हुई जिसमें सेना को पीछे हटना पड़ा।सेना ने निर्णायक लडाई पाँच जून की रात लडी,सेना ने बख्तरबंद गाडियों को स्वर्ण मंदिर में ले जाकर जबरदस्त आपरेशन चलाया जिसमें भिंडरावाला समेत सभी आतंकी मारे गए मगर भीषण खून खराबे में अकाल तख्त पूरी तरह तबाह हो गया।

सेना ने जब कमरों की तलाशी ली तो बहुत सा प्रतिबंधित सामान वहाँ मिला।कंडोम के बहुत से पैकेट मिले,अश्लील साहित्य की बहुत सी किताबें मिली थी।

आपरेशन ब्लूस्टार से नाराज सिखों ने 31 अक्टूबर 1984 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या कर दी थी।

इतिहास में भिंडरावाला को लोग एक आतंकी,दुर्दांत खालसा चरमपंथी के रूप में देखते हैं।भिंडरावाला उन्हीं हिंदूओं का दुश्मन था जिसकी सियासत वो और उनकी पार्टी करती है।अगर मुसलमान हत्यारा है तो वो आतंकी है और अगर वो सिख है तो संत है।ऐसा तो एक मानसिक रूप से बीमार हीं सोच सकता है और मुझें सुब्रह्मण्यम स्वामी के हाल फिलहाल के बयानों को देखकर लगता है कि उन्हें ईलाज की जरूरत है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links