ब्रेकिंग न्यूज़
अपराधी मारा गया... अपराध जीवित रहा !          BIG NEWS : भारत चीन के बीच बातचीत, सकारात्मक सहमति के कदम आगे बढ़े         BIG NEWS : बारामूला के नौगाम सेक्टर में LOC के पास मुठभेड़, दो आतंकी ढेर         BIG STORY : समरथ को नहिं दोष गोसाईं         शर्मनाक : बाबू दो रुपए दे दो, सुबह से भूखी हूं.. कुछ खा लुंगी         BIG NEWS : वर्चुअल काउंटर टेररिज्म वीक में बोले सिंघवी, कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, था और रहेगा         BIG NEWS : कानपुर से 17 किमी दूर भौती में मारा गया गैंगेस्टर विकास, एसटीएफ के 4 जवान भी घायल         BIG NEWS : झारखंड के स्कूलों पर 31 जुलाई तक टोटल लॉकडाउन         BIG NEWS : चीन के खिलाफ “बायकॉट चाइना” मूवमेंट          पाकिस्तानी सेना ने नौशेरा सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         मुसीबत देश के आम लोगों की है जो बहुत....         BIG NEWS : एनकाउंटर में मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे         बस नाम रहेगा अल्लाह का...         BIG NEWS : सेना के काफिले पर आतंकी हमला, जवान समेत एक महिला घायल         BIG NEWS : लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों ने की थी बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या         दुबे के बाद क्या ?         मै हूं कानपुर का विकास...         BIG NEWS : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 6 पुलों का किया ई उद्घाटन, कहा-सेना को आवाजाही में मिलेगी सुविधा         BIG NEWS : कुख्यात अपराधी विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार         BIG MEWS : चुटुपालु घाटी में आर्मी का गाड़ी खाई में गिरा, एक जवान की मौत, दो घायल         BIG NEWS : सेना ने फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत 89 एप्स पर लगाया बैन         BIG NEWS : बांदीपोरा में आतंकियों ने बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या, हमले में पिता-भाई की भी मौत         नहीं रहे शोले के ''सूरमा भोपाली'', 81 की उम्र में अभिनेता जगदीप का निधन         गृह मंत्रालय ने IPS अधिकारी बसंत रथ को किया निलंबित, दुर्व्यवहार का आरोप         BIG NEWS : कुलभूषण जाधव ने रिव्यू पिटीशन दाखिल करने से किया इनकार, पाकिस्तान ने दिया काउंसलर एक्सेस का प्रस्ताव         पुलिस पूछ रही है- कहां है दुबे         झारखंड मैट्रिक रिजल्ट : स्टेट टॉपर बने मनीष कुमार         झारखंड बोर्ड परीक्षा रिजल्ट : कोडरमा अव्वल और पाकुड़ फिसड्डी         BIG NEWS :  मैट्रिक का रिजल्ट जारी, 75 परसेंट पास हुए छात्र         पाकिस्तान की करतूत, बालाकोट सेक्टर के रिहायशी इलाकों में की गोलाबारी, एक महिला की मौत          BIG NEWS : होम क्वारंटाइन हो गए हैं सीएम हेमंत सोरेन, आज हो सकता है कोरोना टेस्ट !         BIG NEWS : मंत्री मिथिलेश, विधायक मथुरा समेत 165 नए कोरोना पॉजिटिव         BIG NEWS : उड़ी सेक्टर में भारी मात्रा में हथियार व गोला-बारूद बरामद         BIG NEWS : लद्दाख में एलएसी पर सेना पूरी तरह से मुस्तैद         CBSE: नौवीं से बारहवीं कक्षा तक के छात्रों के सिलेबस में होगी 30 फीसदी कटौती         BIG NEWS : पुलवामा आतंकी हमले में शामिल एक और OGW को NIA ने किया गिरफ्तार         BIG NEWS : कल घोषित होगा मैट्रिक का रिजल्ट         BIG NEWS : POK में चीन और पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन         बारामूला में हिजबुल मुजाहिदीन का एक OGW गिरफ्तार, हैंड ग्रेनेड बरामद         अंदरखाने खोखला, बाहर-बाहर हरा-भरा...!        

बहुसंख्यक से अल्पसंख्यक बनाना कोई चीन से सीखे

Bhola Tiwari Jun 08, 2019, 6:46 AM IST टॉप न्यूज़
img

अजय श्रीवास्तव

चीन के मुस्लिम बहुल प्रांत शिनजियांग में हलाला उत्पादों के खिलाफ एक बडा़ और महत्वपूर्ण अभियान शुरू किया गया है।कम्युनिस्ट प्रशासन इसे देश के पश्चिम भाग में रहने वाले वीगर समुदाय के मुसलमानों की जिंदगी को बदलने की कोशिशों का हिस्सा बता रही है जबकि वीगर समुदाय के लोगों का कहना है कि हलाल उसके धर्म का एक हिस्सा है जिसे मुसलमान कभी नहीं छोड़ सकते।दरअसल चीन सरकार हलाल चीजों के इस्तेमाल में कमी लाना चाहती है क्योंकि हलाल से धार्मिक और सेक्यूलर जिंदगी के बीच फासला धूमिल हो जाता है।

अभी कुछ दिनों पहले शिनजियांग से खबर आई थी कि चीन प्रशासन नमाज के दौरान इस्तेमाल होने वाली चटाई और पवित्र कुरान समेत सभी धार्मिक चीजों को जमा करने का तुगलकी फरमान जारी किया है, जो भी तयशुदा समय पर इन वस्तुओं को जमा नहीं करेगा उसपर कानूनी प्रक्रिया के तहत कार्रवाई की जाएगी।जब इस मामले की धमक अंतरराष्ट्रीय समुदाय तक पहुँचीं तो चीन प्रशासन ने ऐसे किसी भी फरमान का खंडन किया।

आपको बता दें चीन में प्रेस सेंसरशिप है,कोई भी विदेशी पत्रकार वहाँ जाकर रिपोटिंग नहीं कर सकता।कम्युनिस्ट प्रशासन किसी भी विदेशी मीडिया को चाहे वहाँ कुछ भी आपत-विपत हो जाने नहीं देती।इस वजह से कोई भी खबर बाहर नहीं आ पाती और जो छनकर बाहर भी आती है उसकी विश्वनीयता संदेह के घेरे में रहती है।चीन हमेशा उसका खंडन भी कर देता है।

चीन सरकार ने तकरीबन साल भर पहले शिनजियांग प्रांत में इस्लामी चरमपंथ के खिलाफ अभियान के तहत वीगर मुस्लिमों पर लंबी दाढी रखने, सार्वजनिक स्थानों पर नकाब लगाने और सरकारी टीवी चैनल देखने से मना करने जैसी पाबंदियां शामिल है।

नए कानून के तहत ये सब भी प्रतिबंधित होगा,जैसे बच्चों को सरकारी स्कूल में दाखिला लेने की अनुमति ना देना, परिवार कल्याण की नीतियों का पालन ना करना, जानबूझकर कानूनी दस्तावेजों को बर्बाद करना, सिर्फ धार्मिक प्रक्रियाओं के तहत शादी करना।

चीन की कम्युनिस्ट सरकार चाहती है कि वीगर मुसलमान चीन की संस्कृति में रचें बसें, मगर वीगर मुसलमानों का कहना है कि हमारी संस्कृति, रीति रिवाज अलग हैं और हमें उसी में जीने दें।वीगर मुसलमान अपने बच्चों को चीन सरकार के लाख कोशिशों के बावजूद सरकारी स्कूलों में दाखिला नहीं करा रहें हैं, उनका आरोप है कि सरकारी स्कूलों में धार्मिक शिक्षा नहीं दी जाती जो बच्चों के लिए बेहद जरूरी है।वे अपने बच्चों को मदरसों में हीं भेजते हैं जिससे उसकी सोच बचपन से हीं धार्मिक हो जाती है वे तकनीकी शिक्षा से बिल्कुल मरहूम रह जाते हैं।चीन सरकार का कहना है कि वे दूसरे समुदायों में भी शादी विवाह करें जिससे खुलापन आएगा,दो समुदायों में आपसी तालमेल बनेगा जो आगे चलकर एक मजबूत रिश्तों का गवाह बनेगा मगर वीगर इसके लिए भी तैयार नहीं।

गौरतलब है कि वीगर मूल रूप से तुर्की के मुसलमान हैं, सांस्कृतिक और जनजातीय रूप से वे खुद को मध्य एशियायी देशों के नजदीक मानते हैं।सदियों से इनकी अर्थव्यवस्था कृषि और व्यापार केंद्रित रही है।यहाँ के काशगर जैसे कस्बे प्रसिद्ध सिल्क रूट के बहुत संपन्न केंद्र रहे हैं।बेहद आक्रमक और कट्टर वीगरों ने खुद को बीसवीं शताब्दी के शुरूआत में आजाद घोषित कर लिया था, मगर चीन की कम्युनिस्ट प्रशासन ने 1949 में संपूर्ण शिनजियांग पर कंट्रोल कर लिया जो अभी तक वीगर मुसलमानों को सालता है।वे अपना अलग देश चाहते हैं,धार्मिक स्वतंत्रता चाहते हैं जो बेहद अनुशासित चीन प्रशासन में नहीं मिल रहा।

चीन से निर्वासित वीगर नेता राबिया कदीर को चीन इन सब घटनाओं का जिम्मेदार मानता है।चीन प्रशासन का आरोप है कि साल 20089 की जुलाई में शिनजियांग की प्रशासनिक राजधानी "उरुमुची" में हुए जातीय दंगों में करीब दो सौ लोग मारे गए थे, चीन का कहना है कि इसके पीछे राबिया कदीर का हाथ है।बहुत से पकड़े गए वीगरों के संबंध अलकायदा से प्रमाणित भी हुए हैं।अफगानिस्तान पर हमले के दौरान अमरीकी सेना ने बीस से ज्यादा वीगरों को बंदी बनाया था।चीन में मुस्लिम आतंकवाद सर उठा रहा है कम्युनिस्ट पार्टी का मत है कि शुरू में ही उसके फन को कुचल दिया जाए नहीं तो आगे चलकर वे नासूर बन जाएंगे।

आपको बता दें चीन में वीगर वैसे हीं कर रहें हैं जैसे कश्मीर में आतंकवाद के शुरुआती दिनों में होता था,मगर चीन प्रशासन ने एक नायाब तरीका खोज लिया।पहले शिनजियांग प्रांत में 80% वीगर थे मगर एक वृहद योजना के तहत वहां "हान" समुदाय के लोगों को बसाना आरंभ किया गया।आज शिनजियांग प्रांत में हान समुदाय की आबादी वीगरों से ज्यादा कर दी गई है।अब वहाँ वीगरों की मोनोपोली प्रशासन ने समाप्त कर दिया है।भारत में अभी धारा 370,35(A)पर बहस हीं होती है और चीन को देखिये जो बहुसंख्यक था उसे अल्पसंख्यक बना दिया गया।

चीन शिनजियांग प्रांत में भारी निवेश कर रहा है और उसकी कोशिश है कि वीगर समुदाय भी उसका फायदा उठाए,एक तरफ विकास और अच्छी जिंदगी है दूसरी तरफ सरकारी चाबुक, उम्मीद है वीगर आज नहीं तो कल मुख्यधारा में अवश्य वापस आ जाएंगे।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links