ब्रेकिंग न्यूज़
अपराधी मारा गया... अपराध जीवित रहा !          BIG NEWS : भारत चीन के बीच बातचीत, सकारात्मक सहमति के कदम आगे बढ़े         BIG NEWS : बारामूला के नौगाम सेक्टर में LOC के पास मुठभेड़, दो आतंकी ढेर         BIG STORY : समरथ को नहिं दोष गोसाईं         शर्मनाक : बाबू दो रुपए दे दो, सुबह से भूखी हूं.. कुछ खा लुंगी         BIG NEWS : वर्चुअल काउंटर टेररिज्म वीक में बोले सिंघवी, कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, था और रहेगा         BIG NEWS : कानपुर से 17 किमी दूर भौती में मारा गया गैंगेस्टर विकास, एसटीएफ के 4 जवान भी घायल         BIG NEWS : झारखंड के स्कूलों पर 31 जुलाई तक टोटल लॉकडाउन         BIG NEWS : चीन के खिलाफ “बायकॉट चाइना” मूवमेंट          पाकिस्तानी सेना ने नौशेरा सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         मुसीबत देश के आम लोगों की है जो बहुत....         BIG NEWS : एनकाउंटर में मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे         बस नाम रहेगा अल्लाह का...         BIG NEWS : सेना के काफिले पर आतंकी हमला, जवान समेत एक महिला घायल         BIG NEWS : लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों ने की थी बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या         दुबे के बाद क्या ?         मै हूं कानपुर का विकास...         BIG NEWS : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 6 पुलों का किया ई उद्घाटन, कहा-सेना को आवाजाही में मिलेगी सुविधा         BIG NEWS : कुख्यात अपराधी विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार         BIG MEWS : चुटुपालु घाटी में आर्मी का गाड़ी खाई में गिरा, एक जवान की मौत, दो घायल         BIG NEWS : सेना ने फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत 89 एप्स पर लगाया बैन         BIG NEWS : बांदीपोरा में आतंकियों ने बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या, हमले में पिता-भाई की भी मौत         नहीं रहे शोले के ''सूरमा भोपाली'', 81 की उम्र में अभिनेता जगदीप का निधन         गृह मंत्रालय ने IPS अधिकारी बसंत रथ को किया निलंबित, दुर्व्यवहार का आरोप         BIG NEWS : कुलभूषण जाधव ने रिव्यू पिटीशन दाखिल करने से किया इनकार, पाकिस्तान ने दिया काउंसलर एक्सेस का प्रस्ताव         पुलिस पूछ रही है- कहां है दुबे         झारखंड मैट्रिक रिजल्ट : स्टेट टॉपर बने मनीष कुमार         झारखंड बोर्ड परीक्षा रिजल्ट : कोडरमा अव्वल और पाकुड़ फिसड्डी         BIG NEWS :  मैट्रिक का रिजल्ट जारी, 75 परसेंट पास हुए छात्र         पाकिस्तान की करतूत, बालाकोट सेक्टर के रिहायशी इलाकों में की गोलाबारी, एक महिला की मौत          BIG NEWS : होम क्वारंटाइन हो गए हैं सीएम हेमंत सोरेन, आज हो सकता है कोरोना टेस्ट !         BIG NEWS : मंत्री मिथिलेश, विधायक मथुरा समेत 165 नए कोरोना पॉजिटिव         BIG NEWS : उड़ी सेक्टर में भारी मात्रा में हथियार व गोला-बारूद बरामद         BIG NEWS : लद्दाख में एलएसी पर सेना पूरी तरह से मुस्तैद         CBSE: नौवीं से बारहवीं कक्षा तक के छात्रों के सिलेबस में होगी 30 फीसदी कटौती         BIG NEWS : पुलवामा आतंकी हमले में शामिल एक और OGW को NIA ने किया गिरफ्तार         BIG NEWS : कल घोषित होगा मैट्रिक का रिजल्ट         BIG NEWS : POK में चीन और पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन         बारामूला में हिजबुल मुजाहिदीन का एक OGW गिरफ्तार, हैंड ग्रेनेड बरामद         अंदरखाने खोखला, बाहर-बाहर हरा-भरा...!        

फिजी द्वीप पर हिंदी का अलख जगाते गिरमिटिया

Bhola Tiwari Jun 06, 2019, 4:50 AM IST टॉप न्यूज़
img

एस डी ओझा

बात उन दिनों की है , जब कहा जाता था कि ब्रिटिश - सूरज कभी अस्ताचल गामी नहीं होता । उसी क्रम में फिजी पर भी ब्रिटिश का अधिपत्य था । यहाँ की मुख्य फसल गन्ना के उत्पादन हेतु मजदूरों की समस्या विकट थी । फिजी की आदिम जातियों का रुझान गन्ने के उत्पादन की तरफ नहीं था . वे शिकार , जंगली फल व शहद के शौक़ीन थे । वे गन्ने के उत्पादन के परिश्रम से बचते थे । फिजी के निकट के द्वीपों से मजदूर लाए गए , लेकिन वो कामयाब नहीं हुए । आखिरकार ब्रिटिशर्स का ध्यान भारतीय मजदूरों पर गया , जिन्होंने मॉरीशस , सूरीनाम व गुयाना में गन्ना उत्पादन में कीर्तिमान स्थापित किया था ।

15 मई सन् 1879 को भारतीय मजदूरों की पहली खेंप फीजी पहुँची । इन मजदूरों से 5 साल का एग्रीमेंट किया गया था । चूँकि ये मजदूर पढ़े लिखे नहीं थे , इसलिए ये एग्रीमेंट को गिरमिट कहा करते थे और गिरमिट से हीं ये मजदूर गिरमिटिया कहलाने लगे । सन् 1916 तक फीजी में 60 हज़ार मजदूर पहुँच चुके थे ।

5 साल का एग्रीमेंट खत्म होने के उपरान्त भी ये भारतीय मजदूर वापस नहीं आए । इन लोगों ने फीजी में हीं जमीन खरीद ली और यहीं बस गए । 40 साल तक ये रामायण , महाभारत , आल्ह खण्ड , बैताल पचीसी , सिहांसन बतीसी और तोता मैना के किस्से एक दूसरे को मुहजबानी सुनते / सुनाते रहे , लेकिन सन् 1920 आते आते बच्चों को पढ़ने / पढ़ाने की आवश्यक्ता महसूस होने लगी । भारत से हिंदी की पुस्तकें मंगाई गईं । जिन किस्से कहानियों को ये मुहजबानी सुनते / सुनाते थे ; अब उनकी किताबें भारत से मंगाई जाने लगी । किस्सा कहानियों के कारण बैठकें होने लगीं । आल्ह खण्ड , रामायण , भरथरी आदि ग्रन्थों की स्वर लहरियां फीजी की फिजाओं में लहराने लगीं ।

सन् 1920 तक भारतीय मजदूरों का एग्रीमेंट खत्म हो गया वे स्वतन्त्र हो , फीजी में अपनी स्वयं की खेती करने लगे । मन्दिरों का निर्माण होने लगा । धर्म प्रचार हेतु ब्राह्मण पुरोहित आगे आए । रामायण पाठ हेतु पुरुष व महिला मण्डली का गठन होने लगा । राम नवमी , कृष्ण जन्माष्टमी , होली व दिवाली आदि त्योहारों के आयोजन होने लगे ।

1970 - 71 के दौर तक देश आज़ाद होने के बाद भी सभी पाठ शालाओं में पढ़ाई का माध्यम हिंदी हीं रही । कई पढ़े लिखे लोग हिंदी में साहित्य रचना करने लगे । जैसे जैसे प्रकाशन की व्यवस्था होने लगी , वैसे वैसे हिंदी के समाचार पत्र व पत्रिकाएं अस्तित्व में आने लगीं । जब दीनबन्धु सी ऍफ़ एंड्रूज जैसे फादर फीजी में आए तो उन लोगों ने उदारता का परिचय दिया । उन्होंने भारत वासियों को अपनी भाषा , संस्कृति व सभ्यता के विकास हेतु उद्यम प्रयास करने हेतु प्रेरित किया ।

कमला प्रसाद मिश्र जैसे उच्च कोटि के कवि फीजी की धरती पर पैदा हुए हैं । मिश्र जी की कविताएँ मैंने पढ़ी हैं . इनकी कवितायें किसी भी दृष्टिकोण से भारतीय छायावादी कवियों से कमतर नहीं हैं । कमला प्रसाद मिश्र ने कविता के साथ साथ पत्रकारिता की तरफ भी ध्यान दिया है । इनके द्वारा सम्पादित जय फीजी बहुत हीं चर्चित पत्रिका रही है । मिश्र जी ने फीजी लोगों को लिखने के लिए भी प्रोत्साहित किया है । ये मूलतः प्रकृति के चितेरे कवि हैं । हवाई जहाज से नज़र आते सघन मेघों पर लिखी इनकी कविता बहुत ही सुंदर बनी है । इन्हें फीजी के राष्ट्र कवि का दर्जा प्राप्त है ।

इसी प्रकार पंडित विवेकानंद शर्मा ने गद्य लिखने में नाम कमाया है । उनकी लिखी हुई प्रमुख किताबें निम्न प्रकार हैं -

1.. फीजी में सनातन धर्म के सौ साल का इतिहास ।

2.. जब मानवता कराह उठी ।

3.. गुलाब के फूल ।

गिरमिटिया लोगों के देश फीजी में हिंदी की ज्योति जलने की प्रक्रिया अब शुरू हो चुकी है , जो किसी भी हालत में नहीं बुझेगी । यह अखण्ड रहेगी । जय हिंदी ! जय फीजी !! जय भारत !!! .

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links