ब्रेकिंग न्यूज़
अपराधी मारा गया... अपराध जीवित रहा !          BIG NEWS : भारत चीन के बीच बातचीत, सकारात्मक सहमति के कदम आगे बढ़े         BIG NEWS : बारामूला के नौगाम सेक्टर में LOC के पास मुठभेड़, दो आतंकी ढेर         BIG STORY : समरथ को नहिं दोष गोसाईं         शर्मनाक : बाबू दो रुपए दे दो, सुबह से भूखी हूं.. कुछ खा लुंगी         BIG NEWS : वर्चुअल काउंटर टेररिज्म वीक में बोले सिंघवी, कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, था और रहेगा         BIG NEWS : कानपुर से 17 किमी दूर भौती में मारा गया गैंगेस्टर विकास, एसटीएफ के 4 जवान भी घायल         BIG NEWS : झारखंड के स्कूलों पर 31 जुलाई तक टोटल लॉकडाउन         BIG NEWS : चीन के खिलाफ “बायकॉट चाइना” मूवमेंट          पाकिस्तानी सेना ने नौशेरा सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         मुसीबत देश के आम लोगों की है जो बहुत....         BIG NEWS : एनकाउंटर में मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे         बस नाम रहेगा अल्लाह का...         BIG NEWS : सेना के काफिले पर आतंकी हमला, जवान समेत एक महिला घायल         BIG NEWS : लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों ने की थी बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या         दुबे के बाद क्या ?         मै हूं कानपुर का विकास...         BIG NEWS : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 6 पुलों का किया ई उद्घाटन, कहा-सेना को आवाजाही में मिलेगी सुविधा         BIG NEWS : कुख्यात अपराधी विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार         BIG MEWS : चुटुपालु घाटी में आर्मी का गाड़ी खाई में गिरा, एक जवान की मौत, दो घायल         BIG NEWS : सेना ने फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत 89 एप्स पर लगाया बैन         BIG NEWS : बांदीपोरा में आतंकियों ने बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या, हमले में पिता-भाई की भी मौत         नहीं रहे शोले के ''सूरमा भोपाली'', 81 की उम्र में अभिनेता जगदीप का निधन         गृह मंत्रालय ने IPS अधिकारी बसंत रथ को किया निलंबित, दुर्व्यवहार का आरोप         BIG NEWS : कुलभूषण जाधव ने रिव्यू पिटीशन दाखिल करने से किया इनकार, पाकिस्तान ने दिया काउंसलर एक्सेस का प्रस्ताव         पुलिस पूछ रही है- कहां है दुबे         झारखंड मैट्रिक रिजल्ट : स्टेट टॉपर बने मनीष कुमार         झारखंड बोर्ड परीक्षा रिजल्ट : कोडरमा अव्वल और पाकुड़ फिसड्डी         BIG NEWS :  मैट्रिक का रिजल्ट जारी, 75 परसेंट पास हुए छात्र         पाकिस्तान की करतूत, बालाकोट सेक्टर के रिहायशी इलाकों में की गोलाबारी, एक महिला की मौत          BIG NEWS : होम क्वारंटाइन हो गए हैं सीएम हेमंत सोरेन, आज हो सकता है कोरोना टेस्ट !         BIG NEWS : मंत्री मिथिलेश, विधायक मथुरा समेत 165 नए कोरोना पॉजिटिव         BIG NEWS : उड़ी सेक्टर में भारी मात्रा में हथियार व गोला-बारूद बरामद         BIG NEWS : लद्दाख में एलएसी पर सेना पूरी तरह से मुस्तैद         CBSE: नौवीं से बारहवीं कक्षा तक के छात्रों के सिलेबस में होगी 30 फीसदी कटौती         BIG NEWS : पुलवामा आतंकी हमले में शामिल एक और OGW को NIA ने किया गिरफ्तार         BIG NEWS : कल घोषित होगा मैट्रिक का रिजल्ट         BIG NEWS : POK में चीन और पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन         बारामूला में हिजबुल मुजाहिदीन का एक OGW गिरफ्तार, हैंड ग्रेनेड बरामद         अंदरखाने खोखला, बाहर-बाहर हरा-भरा...!        

श्रीलंका में नौ मुस्लिम मंत्रियों और दो प्रान्तीय गवर्नरों ने इस्तीफा दिया

Bhola Tiwari Jun 04, 2019, 4:41 PM IST टॉप न्यूज़
img

अजय श्रीवास्तव

श्रीलंका में सारे मुस्लिम मंत्रियों और दो प्रान्तीय गवर्नरों ने अपना इस्तीफा राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना को दे दिया है।अपने इस्तीफे में मंत्रियों ने कहा है कि कुछ मुस्लिम मंत्रियों और दो प्रान्तीय गवर्नरों पर ईस्टर के दिन आतंकियों को शरण देने का आरोप है जिससे वे बुरी तरह आहत हैं।आपसे निवेदन है कि आप इसकी जाँच करा लें और अगर किसी की भी जरा भी संलिप्तता उजागर हो तो कडी से कडी सजा दी जाय।

आपको बता दें कि 21अप्रैल ईस्टर के दिन श्रीलंका में कई स्थानों पर सिलसिलेवार धमाके हुए थे जिसमें 290 लोग कालकवलित हुए और 500 से ज्यादा लोग बुरी तरह घायल हुए थे।ये धमाके सुबह 8:30 से 9:15 के बीच कोलंबो के कोच्चिकादु सेंड़ एंटोनी चर्च, नेगोम्बो,शांगरी ला स्टार होटल,किंग्सबरी स्टार होटल, शिनामन ग्रांड स्टार होटल और बट्टिकालोआ में हुए।दोपहर दो बजे भी कोलंबो के डेहीवाला और डेमाटागोडा इलाके में जोरदार धमाका हुआ था।

पुलिस जाँच में पता चला कि इस घटना के पीछे आईएसआईएस नाम के कट्टर मुस्लिम आतंकी संगठन का हाथ है।आईएसआईएस ने कुछ लोकल मुसलमानों को मिलाकर इस नृशंस हत्यारों को अंजाम दिया था।पुलिस ने बहुत से संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया जिसका हाथ इस घटना में था।श्रीलंका में 70% आबादी सिंघलियों की है जो बौद्ध धर्म को मानते हैं।10% आबादी मुस्लिम और ईसाइयों की है,शेष में तमिल और अन्य धर्मावलंबियों की है।

जब ये पता चल गया कि इस नरसंहार के पीछे मुस्लिम आतातायी हैं,मुसलमानों के व्यावसायिक प्रतिष्ठानों, उनके दुकानों, घरों पर हमले होने लगे।श्रीलंका पुलिस ने कडी मशक्कत के बाद स्थिति को कंट्रोल में किया था।तभी से श्रीलंका के मुसलमान बेहद डरे हुए हैं।

आज मुसलमानों की स्थिति विश्व में हर जगह बद से बदतर है,इसके पीछे कुछ मुसलमानों की ओछी सोच है जिसकी वजह से पूरे कौम को परेशानी और शर्मिंदगी उठानी पड़ रही है।कुछ जुनूनी हमेशा ऐसा कुछ कर जाते हैं कि उसका भुगदंड़ बेचारे आम मुसलमान भुगतते हैं ।आप अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी आदि देशों में आसानी से ये देख सकते हैं कि वहाँ जब कोई आतंकवादी घटना होती है तो स्थानीय मुसलमानों को जिसकी गलती भी नहीं होती,तमाम तरह की परेशानियों से गुजरना पड़ता है।

श्रीलंका में एक बौद्ध भिक्षु जो सांसद भी हैं वो चार दिनों से इस बात को लेकर अनशनरत थे कि श्रीलंका सरकार में शामिल एक मुस्लिम मंत्री और दो मुस्लिम प्रान्तीय गवर्नर इस्तीफा दें।बौद्ध भिक्षु अथुरालिये रतना का कहना है कि इन मंत्रियों का आत्मघाती हमलावर से संबंध है और वे जब तक इस्तीफा नहीं देंगे तबतक अनशन जारी रहेगा।

आपको बता दे श्रीलंका के 2014 के आमचुनाव में मुसलमानों और तमिलों ने राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना का खुलकर समर्थन किया था और राष्ट्र पति भी इन्हें बहुत सम्मान देते हैं।राष्ट्रपति को धर्मसंकट से उबारते हुए सभी नौ मुस्लिम सांसदों और दो प्रान्तीय गवर्नरों ने इस्तीफा दे दिया है।इस्तीफा देने के बाद प्रेस से बातचीत में सभी सांसदों ने राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना के प्रति अपनी आस्था जताई है।

बौद्ध भिक्षु अथुरालिये रतना और अन्य कट्टर बौद्ध भिक्षुओं के एक मंच पर आने की श्रीलंका में काफी निंदा हो रही है।सिंघली सांसदों और नेताओं ने खुलकर कहा है कि कुछ कट्टरपंथी बौद्ध भिक्षु कट्टरपन को बढ़ावा दे रहें हैं, जबरजस्ती किसी भी मजहब और मजहब से संबंधित व्यक्ति को परेशान करना या उसपर शक करना गलत है।पुलिस अपना काम कर रही है,न्यायालय उन्हें सजा देने को कटिबद्ध हैं फिर इस प्रकार का हठ बौद्ध धर्म को बदनाम करना हीं है।

कभी बौद्ध धर्म के अनुयायी बेहद क्षमाशील होते थे और वे अहिंसा में विश्वास करते थे मगर इधर कुछ सालों से इस धर्म के अनुयायियों में भी कट्टरता दिख रही है।म्यांमार में रोहिंग्यों मुसलमानों के साथ बुद्धिस्ट सरकार कैसा सलूक कर रही है वो किसी से छूपा नहीं है, इसी तरह श्रीलंका में अब क्रूरतापूर्ण व्यवहार मुसलमानों के साथ हो रहा है।किसी भी कौम के दो चार व्यक्तियों के गुनाह की सजा आप पूरे कौम को नहीं दे सकते।सिंघलियों और ईसाइयों ने भी तो श्रीलंका के उत्तर-पश्चिमी शहर कीनियामा में एक मस्जिद पर हमला कर पवित्र कुरान को फाडकर जमीन पर फेंक दिया था।

श्रीलंका में मुसलमानों को लेकर खौफ पैदा हो गया है, वे दिल से नहीं चाहते हैं कि इस घटना के बाद मुसलमान श्रीलंका में रहें।बौद्ध भिक्षुओं के आमरण अनशन पर उमडी भीड ये साफ इशारा कर रही है कि श्रीलंका में मुसलमान महफूज नहीं हैं।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links