ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, 2 से 3 आतंकी घिरे         BIG NEWS : सुशांत सिंह केस का राजदार कौन !         BIG NEWS : फिल्म स्टार संजय दत्त लीलावती हॉस्पिटल में भर्ती          BIG NEWS : दिशा सलियान का निर्वस्त्र शव पोस्टमार्टम के लिए दो दिनों तक करता रहा इंतजार          BIG NEWS : टेरर फंडिंग मॉड्यूल का खुलासा, लश्कर-ए-तैयबा के 6 मददगार गिरफ्तार         BIG NEWS : एलएसी पर सेना और वायु सेना को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश         BIG NEWS : राजस्थान का सियासी जंग : कांग्रेस के बाद अब भाजपा विधायकों की घेराबंदी         BIG NEWS : देवेंद्र सिंह केस ! NIA की टीम ने घाटी में कई जगहों पर की छापेमारी         बाढ़ और संवाद हीनता          BIG NEWS : पटना एसआईटी टीम के साथ मीटिंग कर सबूतों और तथ्यों को खंगाल रही है CBI         BIG NEWS : सुशांत सिंह की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती और बांद्रा डीसीपी मे गुफ्तगू         BIG NEWS : भारत और चीन के बीच आज मेजर जनरल स्तर की वार्ता, डिसएंगेजमेंट पर होगी चर्चा         BIG NEWS : मनोज सिन्हा ने ली जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल पद की शपथ, संभाला पदभार         BIG NEWS : पुंछ में एक और आतंकी ठिकाना ध्वस्त, AK-47 राइफल समेत कई हथियार बरामद         BIG NEWS : सीएम हेमंत सोरेन ने भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ किया केस         BIG NEWS : मुंबई में ED के कार्यालय पहुंची रिया चक्रवर्ती          BIG NEWS : शोपियां में मिले अपहृत जवान के कपड़े, सर्च ऑपरेशन जारी         मुंबई में सड़कें नदियों में तब्दील          BIG NEWS : पाकिस्तान आतंकवाद के दम पर जमीन हथियाना चाहता है : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : श्रीनगर पहुंचे जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, आज लेंगे शपथ         सुष्मान्जलि कार्यक्रम में सुषमा स्वराज को प्रकाश जावड़ेकर सहित बॉलीवुड के दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि           BIG NEWS : जीसी मुर्मू होंगे देश के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक          BIG NEWS : सीबीआई ने रिया समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया         बंद दिमाग के हजार साल           BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने की बीजेपी सरपंच की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : अयोध्या में भूमि पूजन! आचार्य गंगाधर पाठक और PM मोदी की मां हीराबेन         मनोज सिन्हा होंगे जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार         BIG NEWS : सदियों का संकल्प पूरा हुआ : मोदी         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव को रिम्स डायरेक्टर के बंगले में किया गया स्विफ्ट         BIG NEWS : अब पाकिस्तान ने नया मैप जारी कर जम्मू कश्मीर, लद्दाख और जूनागढ़ को घोषित किया अपना हिस्सा         हे राम...         BIG NEWS : सुशांत केस CBI को हुआ ट्रांसफर, केंद्र ने मानी बिहार सरकार की सिफारिश         BIG NEWS : पीएम मोदी ने अयोध्या में की भूमि पूजन, रखी आधारशिला         BIG NEWS : PM मोदी पहुंचे अयोध्या के द्वार, हनुमानगढ़ी के बाद राम लला की पूजा अर्चना की         BIG NEWS : आदित्य ठाकरे से कंगना रनौत ने पूछे 7 सवाल, कहा- जवाब लेकर आओ         रॉकेट स्ट्राइक या विस्फोटक : बेरूत के तट पर खड़े जहाज में ताकतवर ब्लास्ट, 73 की मौत         BIG NEWS : भूमि पूजन को अयोध्या तैयार         रामराज्य बैठे त्रैलोका....         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत की मौत से मेरा कोई संबंध नहीं : आदित्य ठाकरे         BIG NEWS : दीपों से जगमगा उठी भगवान राम की नगरी अयोध्या         BIG NEWS : पूर्व मंत्री राजा पीटर और एनोस एक्का को कोरोना, कार्मिक सचिव भी चपेट में         BIG NEWS : अब नियमित दर्शन के लिए खुलेंगे बाबा बैद्यनाथ व बासुकीनाथ मंदिर          BIG NEWS : श्रीनगर-बारामूला हाइवे पर मिला IED बम, आतंकी हादसा टला         BIG NEWS : सिविल सेवा परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी, प्रदीप सिंह ने किया टॉप, झारखंड के रवि जैन को 9वां रैंक, दीपांकर चौधरी को 42वां रैंक         सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की CBI जांच की सिफारिश         BIG NEWS : आतंकियों ने सेना के एक जवान को किया अगवा          बिहार DGP का बड़ा बयान, विनय तिवारी को क्वारंटाइन करने के मामले में भेजेंगे प्रोटेस्ट लेटर         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग !         BIG NEWS : दिशा सालियान...सुशांत सिंह राजपूत मौत प्रकरण की अहम कड़ी...         BIG NEWS : पटना पुलिस ने खोजा रिया का ठिकाना, नोटिस भेज कहा- जांच में मदद करिए         BIG NEWS : छद्मवेशी पुलिस के रूप में घटनास्थल पर कुछ लोगों के पहुंचने के संकेत        

नेहरू का समाजवाद और राजकपूर की फिल्में

Bhola Tiwari Jun 03, 2019, 8:45 AM IST टॉप न्यूज़
img

एस डी ओझा

विगत सात दिनों में भारत के दो महानायकों की पुण्य तिथि गुजरी है. 27 मई को नेहरू व 2 जून को राज कपूर की पुण्य तिथि थी. इतिहास का एक ऐसा दौर था, जब भारत से बाहर मात्र दो हीं चेहरे पहचाने जाते थे. वो चेहरे थे -पंडित जवाहर लाल नेहरू व राज कपूर. नेहरू वस्तुतः एक उदार समाजवादी थे. सन् 1929 में वे कांग्रेस के अध्यक्ष चुने गये थे. तब से लगायत सन् 1964 के मृत्यु पर्यन्त तक का उनका 35 साला कार्यकाल देशवासियों के लिए आदर्श बना रहा . चीन के साथ हुई लड़ाई में बुरी तरह से हार जाने के बाद भी नेहरू भारतीय जनों के हृदय सम्राट थे. देश के नौजवानों के बीच उनकी लोकप्रियता चरम पर थी. लोग अपने खून से उनका स्केच तैयार कर उनको भेंट किया करते थे. पंचशील व गुटनिरपेक्ष के लिए विश्व उनका सदा ऋणी रहेगा.

नेहरू समाजवादी थे तो राजकपूर नेहरूवादी. पचास के दशक में राजकपूर की आई फिल्में नेहरू के समाजवाद से प्रभावित थीं.इसीलिए राजकपूर नेहरू के समाजवाद के सबसे बड़े सौदागर थे. उनकी बनाई हुई कालजयी समाजवादी फिल्मों में आवारा, श्री 420, जागते रहो, बूट पालिस प्रमुख थीं. आवारा को तत्कालीन सोवियत संघ, पूर्वी योरोप एंव खाड़ी के देशों में अपार लोकप्रियता हासिल हुई. इस प्रकार आवारा की लोकप्रियता ने उसे अघोषित राष्ट्रीय फिल्म बना दिया. मेरा नाम जोकर एक क्लसिकल फिल्म थी, पर उसकी असफलता ने उन्हें तोड़कर रख दिया. उसके बाद से राजकपूर ने बाक्स आफिस पर मशहूर होने वाली फिल्में हीं बनाई. बाबी, सत्यम् शिवम् सुन्दरम्, प्रेमरोग, कल आज और कल आदि. किन्तु पचास के दशक में उनकी समाजवादी फिल्मों ने जो नाम कमाया,वह उनकी अन्य फिल्मों को नहीं मिली. राज कपूर को यह गम रहा कि विदेशों में उनकी फिल्मों ने सफलता के झंडे तो गाड़े, पर अपने हीं देश में उनकी फिल्मों की पहचान नेहरू युग के बाद हुई.

यदि त्रिदेव (राज, दिलीप व देव ) में से किसी एक को प्रतिनिधि नायक अभिनेता चुनना हो तो राजकपूर का नाम सबसे ऊपर होगा. वे अपने आप में अभिनय की एक संस्था थे. क्या नहीं थे वे? अभिनेता, निर्माता, निर्देशक, सम्पादक सभी कुछ तो थे वे. जब उन्हें दादा साहब फाल्के एवार्ड से नवाजा जा रहा था, तभी उन पर अस्थमा का अटैक पड़ा. राष्ट्रपति ने प्रोटोकॉल को तोड़ नीचे आकर उन्हें यह अवार्ड दिया. राजकपूर उसके बाद से फिर नहीं उठे. 2 जून सन् 1988 को वे चिर निंद्रा में सो गये.

पंडित जवाहर लाल नेहरू चाइना वार के बाद बिल्कुल टूट गये. उन्हें हृदयाघात का पहला हल्का अटैक आया था. दूसरे और तीसरे अटैक के बाद 27 मई सन् 1964 को उनकी मौत हो गई.

मौत का तो एक दिन मुय्यन है. हम सभी को एक दिन जाना तय है, लेकिन जिस लोकप्रियता के चरम पर पंडित नेहरू व राजकपूर पहुंचे, वह अन्यत्र दुर्लभ है.

न भूतो न भविष्यति.

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links